माकपा सदस्यों ने त्रिपुरा विधानसभा से वाकआउट किया |

माकपा सदस्यों ने त्रिपुरा विधानसभा से वाकआउट किया

माकपा सदस्यों ने त्रिपुरा विधानसभा से वाकआउट किया

: , September 23, 2022 / 07:55 PM IST

अगरतला, 23 सितंबर (भाषा) त्रिपुरा विधानसभा में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के सदस्यों ने शुक्रवार को उस समय सदन से वाकआउट किया जब पिछले दिनों वामपंथी युवा संगठनों के समर्थकों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई पर चर्चा के लिए उसके कार्यस्थगन प्रस्ताव को विधानसभा अध्यक्ष रतन चक्रवर्ती ने खारिज कर दिया।

सर्किट हाउस के पास 15 सितंबर को एक विरोध प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाकर्मियों के साथ झड़प में कम से कम चार माकपा समर्थक घायल हो गए थे।

सत्र के शुरू होते ही, माकपा विधायक तपन चक्रवर्ती ने कार्य स्थगन प्रस्ताव के बारे में स्वाल किया।

विधानसभा अध्यक्ष ने जवाब दिया कि इस प्रस्ताव की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि दो दिवसीय सत्र के दौरान विपक्षी सदस्य उचित समय पर इस मुद्दे को उठा सकते हैं। शुक्रवार का सदन का पहला दिन था।

विधानसभा अध्यक्ष के फैसले का विरोध करते हुए माकपा सदस्य आसन के समक्ष आ गए और प्रस्ताव को स्वीकार करने की मांग करने लगे।

विधानसभा अध्यक्ष ने जैसे ही प्रश्नकाल शुरु कराया, माकपा विधायक सदन से वाकआउट कर गए।

बाद में, नेता प्रतिपक्ष माणिक सरकार ने कार्य स्थगन प्रस्ताव को खारिज करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष की आलोचना की। उन्होंने आरोप लगाया, ‘इस मुद्दे पर एक स्वस्थ बहस हो सकती थी, लेकिन विधानसभा अध्यक्ष ने सत्र का संचालन एकतरफा नजरिए से किया। वह विपक्ष की अपेक्षा सत्ता पक्ष की ओर अधिक ध्यान देते हैं।’

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए सरकार ने दावा किया कि पार्टी ने 2018 के चुनावों से पहले किए गए अपने किसी भी वादे को पूरा नहीं करने के बाद अगला चुनाव जीतने के लिए ‘आतंकी रणनीति’ अपनाई है।

हालांकि, विधानसभा अध्यक्ष ने संवाददाताओं से कहा कि वह विपक्षी सदस्यों को अपने मुद्दों को उठाने की अनुमति देने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘विपक्षी सदस्य इस मुद्दे पर किसी अन्य समय चर्चा कर सकते थे, लेकिन वे अचानक बाहर चले गए।’

भाषा अविनाश नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)