कर्नाटक : येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र के लिए एमएलसी टिकट की सिफारिश कर सकती है भाजपा

कर्नाटक : येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र के लिए एमएलसी टिकट की सिफारिश कर सकती है भाजपा

: , May 14, 2022 / 09:16 PM IST

बेंगलुरु, 14 मई (भाषा) कर्नाटक भाजपा की कोर समिति की बैठक शनिवार को यहां बेंगलुरु में हुई। कहा जा रहा है कि समिति ने आगामी विधान परिषद चुनाव के लिए पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र सहित करीब एक दर्जन नामों की सिफारिश केंद्रीय नेतृत्व से करने को लेकर चर्चा की।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि समिति ने कहा कि उन्होंने राज्य से केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण को दोबारा चुनकर राज्यसभा भेजने की संभावना पर भी चर्चा की।

उन्होंने बताया कि कोर समिति की बैठक में हिस्सा लेने वालों में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य के प्रभारी अरुण सिंह, राज्य इकाई के अध्यक्ष नलिन कुमार कतील, मुख्यमंत्री बसावराज बोम्मई, पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और जगदीश शेट्टार,केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी, राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि भी शामिल थे।

उल्लेखनीय है कि राज्यसभा के लिए होने वाले द्विवार्षिक चुनाव के तहत कर्नाटक की चार सीटों और राज्य विधान परिषद की चार सीटों (दो स्नातक श्रेणी में और दो शिक्षक श्रेणी में) पर क्रमश: 10 जून और 13 जून को मतदान होगा।

वहीं, कर्नाटक विधान परिषद की द्विवार्षिक चुनाव के तहत सात सीटों के लिए तीन जून को मतदान होगा।

स्नातक और शिक्षक श्रेणी के निर्वाचन क्षेत्रों के लिए पार्टी ने प्रत्याशियों के नामों की पहले ही घोषणा कर दी है। वहीं, सात सीटों के लिए नामों को अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, सामान्य, महिला और अन्य पिछड़ा वर्ग के आधार पर छांटा जा रहा है। इन सीटों के लिए विधायक मतदान करेंगे।

घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि जिन नामों पर चर्चा की गई उनमें विजयेंद्र, पूर्व उप मुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी (जो एमएलसी पद से सेवानिवृत्त होने वालों में शामिल हैं), भाजपा राज्य इकाई के उपाध्यक्ष एम राजेंद्र, महासचिव महेश तेंगिनकई, एससी मोर्चा के अध्यक्ष सी नारायणसामी, पूर्व विधान पार्षद एमबी भानुप्रकाश और सिद्धराजू, महिला मोर्चा की अध्यक्ष गीता विवेकानंद के नाम शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक विधान परिषद के लिए निर्वाचित होने के लिए प्रत्येक प्रत्याशी को 29 विधायकों का समर्थन चाहिए। उन्होंने बताया कि जीत के लिए न्यूनतम मतों और विधानसभा में पार्टियों के सदस्यों की संख्या के आधार पर भाजपा चार सीटों पर, कांग्रेस दो सीटों पर और जद(एस) एक सीट पर जीत दर्ज कर सकती है।

भाषा धीरज पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)