कुमाऊं साहित महोत्सव दो साल बाद ऑफलाइन होगा |

कुमाऊं साहित महोत्सव दो साल बाद ऑफलाइन होगा

कुमाऊं साहित महोत्सव दो साल बाद ऑफलाइन होगा

: , November 29, 2022 / 07:46 PM IST

नयी दिल्ली, 29 सितंबर (भाषा) कुमाऊं साहित्य महोत्सव ‘हिमालयन इकोज 2022’ का आयोजन दो साल बाद ऑफलाइन स्वरूप में किया जाएगा। यह साहित्य महोत्सव नैनीताल में आठ अक्टूबर से शुरू होगा।

‘हिमालयन इकोज 2022’ लेखिका एवं सामाजिक उद्यमी जाह्नवी प्रसाद द्वारा स्थापित और प्रख्यात लेखिका नमिता गोखले द्वारा निर्देशित कुमाऊं साहित्य महोत्सव का सातवां संस्करण है। इसका विषय ‘सी ए एल एम’ यानी क्रिएटिविटी (रचनात्मकता), आर्ट (कला), लिटरेचर (साहित्य), माउंटेन (पहाड़) रखा गया है।

जाह्नवी प्रसाद ने एक बयान जारी कर कहा, “हिमालयन इकोज भारत के उत्तरी हिस्से की पहाड़ी आवाजों का उत्सव है। यह एक शानदार उत्सव है, जहां कला, शिल्प, स्थानीय व्यंजन और संगीत एक बैनर के तले साथ आते हैं। यह भारत का एकमात्र पहाड़ी उत्सव है, जिसके मूल में ‘पर्यावरण’ है। इसलिए, मैं इसे भारत का ‘पर्यावरण उत्सव’ भी कहती हूं।”

पीवीआर सिनेमा के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अजय बिजली द्वारा सिनेमा पर चर्चा और उनके बैंड ‘रैंडम ऑर्डर’ की लाइव संगीत प्रस्तुति, प्योरअर्थ की संस्थापक कविता खोसला द्वारा आयुर्वेद पर आधारित एक सत्र और बाघों व प्रख्यात संरक्षणवादी जिम कॉर्बेट पर दलीप अघोई का सूचनात्मक सत्र ‘हिमालयन इकोज 2022’ के प्रमुख आकर्षण में शामिल है।

ज्ञानपरक संवाद सत्रों के अलावा इस साहित्य महोत्सव में स्थानीय कुमाऊं व्यंजन परोसने वाले खाद्य स्टॉल और क्षेत्रीय उत्पादों को प्रदर्शित करने वाला ‘कुमाऊं बाजार’ लगाया जाएगा, जिसमें पर्वतीय ग्रामीण महिलाओं द्वारा तैयार किए गए ऊनी कपड़े, हस्तशिल्प और कलाकृतियां उपलब्ध होंगी।

हिमालयन इकोज हिमालय के बारे में सार्थक संवाद करने और पहाड़ों से जुड़ी किताबों, कविताओं व अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया एक कार्यक्रम है। इसके सातवें संस्करण का समापन नौ अक्टूबर को होगा।

भाषा पारुल नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)