एनआईए ने कश्मीर में चार स्थानों पर छापेमारी की, टीआरएफ के दो ओजीडब्ल्यू कार्यकर्ता गिरफ्तार

एनआईए ने कश्मीर में चार स्थानों पर छापेमारी की, टीआरएफ के दो ओजीडब्ल्यू कार्यकर्ता गिरफ्तार

: , May 14, 2022 / 10:40 PM IST

श्रीनगर, 14 मई (भाषा) राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने शनिवार को आतंकवादी षडयंत्र के मामले में कश्मीर घाटी के चार स्थानों की तलाशी ली। एजेंसी ने इस दौरान पाकिस्तान से संचालित लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े द रेजिस्टेंस फोर्स (टीआरएफ) के दो ओवरग्राउंट वर्कर (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के बारामुला और कुपवाड़ा जिले में एक-एक स्थान पर और दक्षिण कश्मीर के पुलवामा और शोपियां में एक-एक स्थान पर तलाशी ली गई।

उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान डिजिटल उपकरण जैसे मोबाइल फोन, लैपटॉप, सिम कार्ड और मेमोरी कार्ड अपराध में संलिप्तता से जुड़ी सामग्री जिसका इसका इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आर्इईडी) बनाने में होता है, जिहादी साहित्य जब्त किया गया।

एनआईए ने जिन ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया है उनकी पहचान बारामूला निवासी मुश्ताक भट और कुपवाडा निवासी फयाज अहमद खान के तौर पर की गई है। प्रवक्ता ने बताया कि वे आतंकवादियों की रणनीतिक सहायता करने, आतंकवादी दुष्प्रचार करने और टीआरएफ के लिए लोगों को कट्टर बनाने और भर्ती करने में सहयोग करने के लिए पाकिस्तान में मौजूद आकाओं के संपर्क में थे।

उन्होंने बताया कि एनआईए ने पिछले साल 18 नवंबर को टीआरएफ की गतिविधियों और उसके स्वघोषित कमांडर सज्जाद गुल के खिलाफ मामला दर्ज किया था। अधिकारी ने बताया कि गुल जम्मू-कश्मीर में युवाओं को कट्टर बनाने, आतंकवादी संगठन में भर्ती करने एवं प्रेरित करने, केंद्र शासित प्रदेश और देश के अन्य हिस्सों में हिंसक गतिविधियों में संलिप्त है।

प्रवक्ता ने बताया कि गुल और लश्कर के उसके अन्य सहयोगी कमांडर ओजीडब्ल्यू की भर्ती पूर्व निर्धारित लक्ष्य की टोह लेने, समन्वय करने और गोला-बारूद का परिवहन करने, सुरक्षा बलों पर हमले और लक्षित हत्याओं को अंजाम देने में आतंकवादियों की सहायता करने के लिए कर रहे हैं।

एनआईए ने कहा कि इस मामले में आगे की जांच जारी है।

भाषा धीरज पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)