नाइट सफारी दुनियाभर में फैशन में है : हिमंत विश्व शर्मा |

नाइट सफारी दुनियाभर में फैशन में है : हिमंत विश्व शर्मा

नाइट सफारी दुनियाभर में फैशन में है : हिमंत विश्व शर्मा

: , November 29, 2022 / 08:13 PM IST

काजीरंगा, 26 सितंबर (भाषा) सूर्यास्त के बाद काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में सदगुरू जग्गी वासुदेव के साथ अपनी जीप में घूमने पर उठे विवाद को खारिज करने की कोशिश करते हुए असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने सोमवार को कहा कि वन्यजीव अभयारण्यों में नाइट सफारी तो दुनियाभर में फैशन में है।

तीन दिवसीय ‘चिंतन शिविर’ के समापन के बाद शर्मा ने संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया कि वन्य जीव संरक्षण से जुड़े कानूनों समेत देश का कोई कानून शाम के बाद वन क्षेत्र में प्रवेश पर रोक नहीं लगाता।

उन्होंने कहा, ‘‘रात में वन्यजीव अभयारण्यों में जाना दुनियाभर में फैशन में है। सिंगापुर जैसे स्थान इसे कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि सदगुरू के साथ जीप सफारी पर उत्पन्न विवाद राज्य और उसकी जनता के बारे में नकारात्मक धारणा को जन्म दे रहा है क्योंकि यह दर्शाता है कि असम एक प्रतिष्ठित मेहमान को बुलाता है और फिर उसे लेकर बवाल खड़ा कर रहा है।

सदगुरू शनिवार शाम को इस राष्ट्रीय उद्यान में जीप चलाकर ले गए थे और जीप में उनके साथ शर्मा एवं अन्य गणमान्य लोग बैठे थे। सदगुरू ‘चिंतन शिविर’ का उद्घाटन करने यहां आये थे।

गाड़ी की तेज हेडलाइट को जलाकर रात के समय जंगल में जाने के लिए शर्मा और सदगुरू की आलोचना हो रही है। स्थानीय लोगों ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज करायी है और वन्यजीव संरक्षण कानूनों के उल्लंघन का आरोप लगाया है।

शर्मा ने कहा, ‘‘ यदि मेरे विरूद्ध एफआईआर दी गयी है तो क्या होगा? मैंने कोई कानून नहीं तोड़ा है। वे दिखाएं कि वन्य जीव कानूनों का कौन सा प्रावधान मैंने तोड़ा है और कौन सा कानून कहता है कि रात में कोई व्यक्ति (वन में) प्रवेश नहीं कर सकता?’’

उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री को अंदर नहीं जाने दिया जाएगा तो उसे कैसे पता चलेगा कि अंदर क्या हो रहा है।

भाषा राजकुमार नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)