आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए खिलौने, किताबें जुटाने के लिए ठेला लेकर निकले मुख्यमंत्री चौहान

आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए खिलौने, किताबें जुटाने के लिए ठेला लेकर निकले मुख्यमंत्री चौहान

: , May 24, 2022 / 10:29 PM IST

भोपाल, 24 मई (भाषा) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को अपनी सरकार की ‘‘ अडॉप्ट ए आंगनबाड़ी ’’ योजना के तहत आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए लोगों से खिलौने और किताबें एकत्र करने के लिए फूलों से सजा ठेला लेकर राजधानी भोपाल की सड़कों पर उतरे।

मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग और विधायक कृष्णा गौर भी थे। मुख्यमंत्री अशोका गार्डन इलाके में अपना ठेला लेकर रास्ते पर चले। वहां बड़ी संख्या में लोग किताबें, खिलौने और अन्य सामान उन्हें इस पहल के लिए दान देने के लिए एकत्र हुए। इसके साथ ही गुल्लक लिए बच्चे भी दान देने के लिए वहां मौजूद थे।

फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार और कवि- राजनेता कुमार विश्वास ने भी सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री की इस कार्य के लिए प्रशंसा की।

अभिनेता ने ट्वीट किया, ‘‘ शिवराज सर मुझे बहुत खुशी होगी अगर मैं किसी तरह आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए कुछ कर सकूं। यह एक अद्भुत कार्य है और इसके लिए आपको और अधिक शक्ति मिले।’’

स्वामी अवधेशानंद ने भी मुख्यमंत्री की इस पहल की प्रशंसा की। नोबेल पुरस्कार विजेता और बचपन बचाओ आंदोलन के कैलाश सत्यार्थी ने ट्वीट किया, ‘‘ यह बच्चों की सुरक्षा, शिक्षा और स्वास्थ्य सरकार के साथ-साथ हमारी साझा जिम्मेदारी है। ये हमारे बच्चे हैं। यह जरूरी है कि सामाजिक संस्थाएं, धर्मगुरु, कारपोरेट जगत, सरकार व नागरिक इनका बचपन बचाने के लिए आगे आएं।’’

इससे पहले दिन में एक बयान जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ मैं भोपाल की सड़कों पर ठेला लेकर आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए खिलौने लेने के लिए निकल रहा हूं। लोगों को इस काम से जोड़ना मेरा मिशन है। हमारे बच्चे कुपोषित क्यों रहें? उन्हें कुपोषण से मुक्त करना अकेले आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का कर्तव्य नहीं है। समाज में जागरूकता होनी चाहिए।’’

हालांकि प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री की घोषणा को ‘‘ नौटंकी ’’ करार दिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा को सुर्खियों में आने के लिए कोई न कोई कार्यक्रम आयोजित करना ही है।

कमलनाथ ने कहा, ‘‘ कुछ भी कर लो, ठेला चला लो, कुछ भी नौटंकी कर लो। वह सोचते हैं कि इससे प्रदेश की जनता गुमराह होगी लेकिन मुझे मतदाताओं पर, प्रदेश की जनता पर पूरा विश्वास है कि वह अंत में सच्चाई पहचान कर, सच्चाई का साथ देगी।’’

भाषा दिमो धीरज

धीरज

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)