मप्र में सौ साल या इससे अधिक उम्र के मतदाताओं को सम्मानित करेगा निर्वाचन आयोग |

मप्र में सौ साल या इससे अधिक उम्र के मतदाताओं को सम्मानित करेगा निर्वाचन आयोग

मप्र में सौ साल या इससे अधिक उम्र के मतदाताओं को सम्मानित करेगा निर्वाचन आयोग

: , November 29, 2022 / 08:44 PM IST

भोपाल, 30 सितंबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर चुनाव आयोग (ईसी) शनिवार को मध्य प्रदेश में 100 वर्ष या इससे अधिक उम्र वाले मतदाताओं को सम्मानित करेगा।

मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) अनुपम राजन ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में 100 साल से अधिक आयु के 4,168 मतदाता हैं, जिनमें 3,040 महिलाएं और 1,128 पुरुष हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से 862 शहरी और 3,306 ग्रामीण इलाकों में रहते हैं।

राजन ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘चुनाव आयोग उन मतदाताओं को सम्मानित करेगा जिन्होंने देश में पहले आम चुनाव के बाद से मतदान में हिस्सा लिया है और अंतरराष्ट्रीय वृद्ध दिवस के अवसर पर 100 वर्ष की आयु पूरी कर ली है।’

उन्होंने कहा कि मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडे वर्चुअल तौर पर कार्यक्रम में शामिल होंगे और वृद्धजनों से बातचीत करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर इस कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा ।

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के रूप में स्थापित करने के लिए 14 दिसंबर 1990 को मतदान किया।

उन्होंने कहा कि उज्जैन जिले की तराना विधानसभा सीट के सलना कॉलोनी निवासी 118 वर्षीय धन्ना जी सबसे बुजुर्ग पुरुष हैं, जबकि सबसे बुजुर्ग महिला बड़वानी जिले के पानसेमल कस्बे की 111 वर्षीय कुनरी बाई हैं।

उन्होंने कहा कि सौ साल से अधिक आयु वाले सबसे अधिक 325 मतदाता सीहोर जिले में रहते हैं। इसके बाद उज्जैन में 296, देवास में 217, रीवा में 189 और राजगढ़ में 173 रहते हैं।

उन्होंने कहा कि सम्मानित होने वाले मतदाताओं को केंद्रों पर या इनके घरो में शॉल और श्रीफल तथा प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

भाषा दिमो रंजन

रंजन

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)