शिवसेना के दोनों खेमे के नेताओं ने दशहरा रैली की तैयारियों का जायजा लिया |

शिवसेना के दोनों खेमे के नेताओं ने दशहरा रैली की तैयारियों का जायजा लिया

शिवसेना के दोनों खेमे के नेताओं ने दशहरा रैली की तैयारियों का जायजा लिया

: , November 29, 2022 / 08:34 PM IST

मुंबई, तीन अक्टूबर (भाषा) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपने प्रतिद्वंद्वी एवं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए सोमवार को कहा कि आयोजन स्थल से कहीं अधिक महत्वपूर्ण सिद्धांत हैं। साथ ही, उन्होंने जोर देते हुए कहा कि उनके खेमे की दशहरा रैली बड़े पैमाने पर सफल होगी।

शिंदे का यह बयान उनके खेमे द्वारा दशहरा रैली किये जाने से पहले आया है।

उन्होंने बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) स्थित एमएमआरडीए मैदान का भी दौरा किया। यह मुंबई उपनगर में रैली का आयोजन स्थल है। उन्होंने वहां पांच अक्टूबर को होने वाली रैली के लिए तैयारियों का जायजा लिया।

शिंदे ने कहा कि विशाल मैदान में रैली के लिए तैयारियां जोरशोर से जारी हैं। यह स्थल मातोश्री के पास है जो उपनगर बांद्रा में ठाकरे परिवार का निजी आवास है।

उल्लेखनीय है कि उद्धव ठाकरे और शिंदे नीत, दोनों खेमे ‘मूल’ शिवसेना होने का दावा कर रहे हैं और उनकी रैली को उनके शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री ठाकरे मध्य मुंबई के ऐतिहासिक शिवाजी पार्क में उसी दिन अपने खेमे की रैली को संबोधित करेंगे।

शिंदे खेमे ने भी अपनी रैली शिवाजी पार्क में करने की अनुमति देने संबंधी एक अर्जी दी थी। लेकिन जब यह विषय बंबई उच्च न्यायालय में आया तब अदालत ने ठाकरे खेमे को अपना वार्षिक कार्यक्रम वहां करने की अनुमति दी।

शिवसेना का 1966 में गठन होने के बाद से वार्षिक दशहरा रैली उसकी परंपरा रही है।

शिंदे ने समाचार चैनल एनडीटीवी से कहा, ‘‘मैंने आयोजन स्थल (बीकेसी) का दौरा किया है और तैयारी पूरे जोरशोर से जारी है। पूरे राज्य से लाखों लोग रैली में आएंगे और सभी विभाग यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं कि उन्हें कोई असुविधा नहीं हो। हमारी तैयारियां कल (मंगलवार को) पूरी हो जाएंगी और यह रैली सफल रहेगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आयोजन स्थल के बजाय सिद्धांत महत्वपूर्ण हैं। हम बालासाहेब ठाकरे के विचारों को आगे ले जा रहे हैं। ’’

शिंदे खेमे की प्रवक्ता शीतल म्हात्रे ने कहा कि तैयारियां करीब 80 प्रतिशत पूरी हो गई है और विधायकों तथा सांसदों ने रैली स्थल पर लोगों को लाने-ले जाने के लिए 4,000-5,000 बसों की व्यवस्था की है।

शिवाजी पार्क में भी रैली के लिए उद्धव खेमा अपनी तैयारियां कर रहा है, जहां मंच बनाया जा रहा और उनके विश्वस्त शिवसैनिकों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है।

तैयारियों का जायजा लेने के लिए उद्धव खेमे के शीर्ष नेतृत्व ने शिवसेना भवन में बैठक की, जो दादर में पार्टी का मुख्यालय है। बीड जिले से कुछ शिवसैनिक शिवाजी पार्क की रैली में शामिल होने के लिए पैदल ही आ रहे हैं।

इस बीच, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने कहा कि उद्धव नीत खेमा ही ‘‘मूल’’ शिवसेना है।

राकांपा के प्रदेश प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा, ‘‘…मूल शिवसेना वह है जिसमें बालासाहेब (ठाकरे) के विचार हैं और इसका अर्थ उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना है।’’

भाषा सुभाष मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)