सोलापुर के उपमहापौर को पुलिस ने दो साल के लिए तड़ीपार किया

सोलापुर के उपमहापौर को पुलिस ने दो साल के लिए तड़ीपार किया

Edited By: , December 8, 2021 / 06:47 PM IST

पुणे, आठ दिसंबर (भाषा) महाराष्ट्र में सोलापुर शहर की पुलिस ने स्थानीय नगर निकाय के उपमहापौर राजेश काले को दो साल के लिए तड़ीपार कर दिया है। उनके खिलाफ उगाही, सरकारी कर्मचारियों पर हमला करने समेत कई मामले दर्ज हैं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि काले को सोलापुर और उस्मानाबाद जिलों तथा पुणे जिले के इंदापुर तहसील से तड़ीपार किया गया है।

भाजपा पार्षद काले को इस साल के शुरू में पार्टी ने निष्कासित कर दिया था। उन्होंने इस कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है और कहा है कि वह पुलिस के तड़ीपार करने वाले आदेश के खिलाफ अदालत से इंसाफ की मांग करेंगे।

भाजपा ने काले के खिलाफ उगाही का मामला दर्ज होने के बाद उन्हें पार्टी से निकाल दिया था।

पुलिस ने कहा कि काले के खिलाफ संगीन धाराओं में कई मामले दर्ज हैं जैसे उगाही, सरकारी कर्मचारियों पर हमला, लोगों और सरकारी कर्मचारियों को धमकाना आदि। काले पर अपने पद का दुरुपयोग कर अवैध काम करने, लोक सेवक को ड्यूटी करने से रोकने के आरोप हैं।

सोलापुर शहर की पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) वैशाली कुदाकर ने कहा, “ हमने काले को दो साल के लिए सोलाहपुर शहर , सोलापुर जिले, उस्मानाबाद जिले और पुणे जिले की इंदापुर तहसील से तड़ीपार कर दिया है।”

एक वीडियो संदेश में काले ने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ मामले राजनीति से प्रेरित है और उनपर हत्या, बलात्कार, लूट जैसा कोई मामला नहीं है। पार्षद ने कहा कि वह न तो अवैध गतिविधियों में लिप्त हैं और न ही अवैध बालू खनन करते हैं।

उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ मामले प्रदर्शनों से संबंधित हैं जो उन्होंने लोगों और उनके कामों के लिए किए थे।

इस बीच पुलिस ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) पार्षद के बेटे चेतन नागेश गायकवाड़ को भी सोलापुर शहर, सोलापुर जिला, उस्मानाबाद जिला और पुणे जिले की इंदापुर से तड़ीपार कर दिया है। पुलिस ने बताया कि गायकवाड़ के खिलाफ, हत्या, हथियारों का इस्तेमाल कर लोगों में डर पैदा करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं।

भाषा

नोमान नरेश

नरेश