अब तक का सबसे महंगा रहा लोकसभा चुनाव 2019 , खर्च हुए 60,000 करोड़, वोटर्स को बांटे गए 2-2 हजार

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 04 Jun 2019 10:18 PM, Updated On 04 Jun 2019 10:18 PM

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के चुनावी खर्च को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। खुलासे के अनुसार लोकसभा चुनाव 2019 अब तक सबसे महंगा चुनाव है। इस चुनाव में सात चरणों में 75 दिनों तक चले लोकसभा चुनाव में 60,000 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान लगाया गया है। 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस चुनाव में 30,000 करोड़ रुपए अधिक खर्च हुए हैं।

Read More: सरकार का बड़ा फैसला, यातायात सुगम बनाने प्रदेश में 5540 करोड़ की लागत से बनाए जाएंगे पु​ल और ओवरब्रिज

अनुमान सेंटर फार मीडिया स्टडीज द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार देश की 542 लोकसभा सीटों पर हुए चुनावों में प्रति लोकसभा सीट 100 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। वहीं, अगर प्रति वोटर के अनुसार खर्च का आंकड़ा देखें तो 90 करोड़ वोटर्स पर प्रति वोटर 700 रुपए खर्च किए गए हैं। इन चुनावों में 12 से 15000 करोड़ रुपए सीधे वोटरों में वितरित किए गए। वहीं, दक्षिण राज्यों के आंध्र, तेलंगना में वोटरों को दो-दो हजार रुपए प्रति वोटर रिश्वत के तौर पर दिया गया है।

Read More: भीमा मंडावी हत्याकांड की NIA जांच पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का बड़ा बयान, कहा- पहले पुराने... 

राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार में 20 से 25 हजार करोड़ रुपए खर्च किए हैं, वहीं निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 में 10 से 12 हजार करोड़ रुपए खर्च किए हैं। वहीं, 6000 करोड़ रुपए अन्य मदों पर खर्च किए गए हैं।

Read More: सीएम भूपेश 6 जून को लेंगे कलेक्टर्स-पुलिस अधीक्षकों की कॉन्फ्रेंस

हालांकि यह एक अनुमान है, लेकिन राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों को अपने चुनावी खर्च का ब्यौरा निर्वाचन आयोग को चुनाव के 90 दिनों के बाद देना होता है। आयोग को चुनावी खर्च का ब्यौरा सौंपे जाने के बाद ही असल खर्च का खुलासा होगा।

पिछले 20 वर्ष में छह चुनावों का खर्च
1998 - 9000 करोड़
1999- 10000 करोड़
2004 -14000 करोड़
2009 -20000 करोड़
2014 - 30 000 करोड़
2019 - 60000 करोड़ रुपये (अनुमानित)

Web Title : around 75 thousand crore rupees spent in lok sabha elections 2019

जरूर देखिये