आपराधिक प्रकरण वाले प्रत्याशियों की बढ़ीं मुसीबतें, मीडिया को देनी होगी सारी जानकारी

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 19 Oct 2018 11:50 AM, Updated On 19 Oct 2018 11:50 AM

रायपुर। विधानसभा चुनाव के पहले आपराधिक पृष्ठभूमि वाले विधानसभा प्रत्याशियों की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं। छत्तीसगढ़ विधानसभा निर्वाचन के उम्मीदवारों को अपने आपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से मतदाताओं को देनी होगी। साथ ही राजनीतिक दलों को अपनी वेबसाइट पर ही ये जानकारी प्रदर्शित करनी होगी।

पढ़ें- अजीत जोगी की बहू ऋचा जोगी बसपा में! अकलतरा से लड़ सकती हैं चुनाव

भारत सरकार के कानून और न्याय मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी अधिसूचना के आधार पर भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नामांकन दाखिले के दौरान प्रस्तुत किए जाने वाले हलफनामा के प्रारूप-26 में संशोधन किया गया है। इसके अनुसार ऐसे उम्मीदवार जिनके विरूद्ध आपराधिक मामले पंजीबद्ध हैं या पूर्व में रहे हैं, उन्हें अपने विरूद्ध दर्ज प्रकरणों की जानकारी अपनी संबद्धता के राजनीतिक दल को देनी होगी और उसे सार्वजनिक करना होगा।

पढ़ें-WRS कॉलोनी में दशहरे से पहले ही जला रावण,शॉर्ट सर्किट से लगी आग,बाल-बाल बची जान

नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि से लेकर मतदान के दो दिन पूर्व तक इस तरह की घोषणा का प्रकाशन अनिवार्य है।0 उम्मीदवार को टेलीविजन चैनल पर भी तीन अलग-अलग तिथियों में आपराधिक मामलों की घोषणा प्रसारित करवानी होगी। टीवी चैनल पर ये घोषणा मतदान समाप्ति के 48 घंटे पूर्व तक प्रसारित करवायी जा सकती है।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

 

 

 

 

Web Title : Assembly Election:

जरूर देखिये