आंखों की रोशनी जाने के मामले में डॉ त्रिलोचंन सिंह होरा निलंबित, इन अधिकारियों पर भी गिरेगी गाज

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 18 Aug 2019 04:59 PM, Updated On 18 Aug 2019 04:59 PM

इंदौर। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने डॉ त्रिलोचंन सिंह होरा को निलंबित कर दिया है। डॉ त्रिलोचंन सिंह होरा जिला अंधत्व निवारण कार्यक्रम के प्रभारी हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने जांच कमेटी के साथ समीक्षा बैठक की है और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करने की बात कही।

read more : CM भूपेश बघेल का बड़ा फैसला, लोहण्डीगुड़ा बनेगा नया राजस्व अनुभाग, आसना में बस्तर लोक नृत्य की स्थापना

तुलती सिलावट ने कहा ​है कि इंदौर आई केअर हॉस्पिटल की लीज भी निरस्त की जाएगी और दोषी पाए जाने पर धार और इंदौर के CMHO के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। उन्होने कहा कि यदि जरूरत हुई तो मरीजों को इलाज के लिए चेन्नई के शंकरा हॉस्पिटल भेजा जाएगा।

read more : सहयोगी दल शिवसेना पर केंद्रीय मंत्री गडकरी का करारा प्रहार, मुंबई महानगरपालिका को लेकर कही ये बात...

बता दें कि इसके पहले इंदौर आई केयर हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंखों की रोशनी चली जाने के मामले में सरकार ने कड़ा रवैया अपनाते हुए अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने के साथ ही ओटी को सील करवा दिया है। मामले की जांच के लिए सात सदस्यीय कमेटी बनाई गई। वहीं रेडक्राॅस से 20 हजार रुपए की मदद के साथ ही सभी पीड़ितों का इलाज सरकार करवाएगी, जिसके लिए उन्हें चोइथराम अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मुख्यमंत्री ने मामले में संज्ञान लेते हुए पीड़ितों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

Web Title : Dr. Trilochan Singh Hora suspended in case of loss of eyesight, these officers will also fall

जरूर देखिये