मोदी सरकार ने की GPF ब्याज दर में कटौती, सरकारी कर्मचारियों को हो सकता है नुकसान

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 16 Jul 2019 08:52 PM, Updated On 16 Jul 2019 08:35 PM

नई दिल्ली: भारत सरकार के वित्त मंत्रालय ने जीपीएफ की दरों में कटौती की है। सरकार ने मंगलवार को निदेश जारी करते हुए जीपीएफ की नई ब्याज दर 7.9 प्रतिशत तय की है। नई ब्याज दर 1 जुलाई से लागू होगा। बता दें इससे पहले जीपीएफ पर पहली तिमाही में 8 फीसदी ब्याज मिल रहा था। ब्याज दर में कटौती के बाद केंद्र सरकार, रेलवे और सुरक्षा बलों के कर्मचारियों के प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) पर लागू होता है। सरकार के इस फैसले का असर करीब एक दर्जन दूसरी स्कीमों पर भी पड़ सकता है।


Read More: अनुसुइया उइके को छत्तीसगढ़ की राजयपाल बनाए जाने पर सीएम भूपेश बघेल ने दी बधाई

इन प्रोविडेंट फंड पर लागू होगी नई ब्याज दरे

  • जनरल प्रोविडेंट फंड (डिफेंस सर्विसेज)

  • इंडियन ऑर्डनेंस डिपार्टमेंट प्रोविडेंट फंड

  • इंडियन ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज वर्कमैन प्रोविडेंट फंड

  • इंडियन नेवल डॉकयार्ड वर्कमैन प्रोविडेंट फंड

  • जनरल प्रोविडेंट फंड (सेंट्रल सर्विसेज)

  • कंट्रीब्यूटरी प्रोविडेंट फंड (इंडिया)

  • स्टेट रेलवे प्रोविडेंट फंड

  • डिफेंस सर्विसेज ऑफिसर्स प्रोविडेंट फंड

  • आर्म्ड फोर्सेस पर्सनल प्रोविडेंट फंड

Read More: IPS विनय कुमार सिंह बनाए गए नगर सेना एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के महानिदेशक, इन विभागों का भी अतिरिक्त प्रभार

सरकार ने 1 जुलाई से लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों को कम कर दिया था। इन ब्याज दरों में पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाएं शामिल होती हैं। अब इन जमा योजनाओं पर 0.10 फीसदी की कटौती की गई है। इस कटौती के बाद पीपीएफ और वरिष्ठ नागिरकों की सेविंग्स स्कीम पर 0.10 फीसदी की कटौती लागू हो गई है।

Read More: Watch Video: बिजली बिल में गड़बड़ी को लेकर SDM और भाजपा विधायक के बीच जमकर हुई बहस, फिर...

Web Title : Finance Ministry cuts the rate of GPF by 10 basis point from 8% to 7.9%, effective from 1st July

जरूर देखिये