भारत-जापान दोस्ती : बौखलाया चीन बोला उत्तर पूर्वी क्षेत्र में कोई हस्तक्षेप मंजूर नहीं

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 15 Sep 2017 07:20 PM, Updated On 15 Sep 2017 07:20 PM

भारत-जापान की बुलेट की रफ्तार से बढ़ती दोस्ती देख चीन बुरी तरह बौखला गया है। इसी बौखलाहट में चीन ने कहा कि वह भारत के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में होने वाले किसी भी निवेश के खिलाफ है, जिसमें जापान की ओर से होने वाला निवेश भी आता हैं। इसी के साथ चीन ने यह भी कहा की वह हर उस तीसरी पार्टी के खिलाफ है जो भारत-चीन के बीच सीमा विवाद में हस्तक्षेप करेगा या ऐसी मंशा रखता है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना है कि चीन हर उस निवेश के खिलाफ है जो विवादित क्षेत्रों में किए जा रहे हैै। चीन का यह बयान उस समय आया जब जापान के प्रधानमंत्री भारत दौरे पर रहे। यहां आपको यह बताना बेहद जरूरी है कि गुरुवार को ही जापानी पीएम शिंजो अबे और पीएम मोदी ने मिलकर इंडिया जापान एक्ट ईस्ट फोरम का गठन करने की घोषणा की थी। यह फोरम नॉर्थ ईस्ट इंडिया में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के निर्माण पर काम करेगी। इसमें सड़क, इलेक्ट्रिसिटी और पानी सप्लाई जैसे प्रोजेक्ट शामिल होंगे।

Web Title : India-Japan Friendship: China speaking North Eastern region no interference granted

जरूर देखिये