सरकारी अस्पताल के जूनियर डॉक्टर ने सीनियर डॉक्टरों पर लगाए अय्याशी के आरोप

Reported By: Dheeraj Sharma, Edited By: Renu Nandi

Published on 03 Feb 2019 05:45 PM, Updated On 03 Feb 2019 05:45 PM

छुरिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुरिया मे फर्जी हाजरी के आरोप से घिरे दंत चिकित्सक डॉ रणजीत खांडे ने अपने आपको पाक साफ बताते हुये स्वास्थ्य केंद्र मे पदस्थ बी,एम,ओ डॉ ए,के बसोड़,डॉ पासी स्टोर कीपर प्रहलाद साहु,एकाउंटेंट तेजस देवांगन पर घटिया सामग्री खरीद कर भ्रष्टाचार कर कमाई करने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं अधिकारी कर्मचारियों पर स्वास्थ्य केंद्र में शराबखोरी व वेश्यावृति करने का गंभीर आरोप लगाते हुये कहा है कि इसकी शिकायत सी,एम,एच. ओ, व उच्चाधिकारी से करने के बाद भी कार्यवाही नही हुई। अधिकारी महज उन्हें आश्वासन दे रहे है।
ये भी पढ़ें -राहुल गांधी की "जन आकांक्षा रैली” में भूपेश की दिखी अहमियत, लोकसभा चुनाव में स्टार प्रचारक 


डॉ रणजीत खांडे ने चैनल को दिये साक्षात्कार में बेबाकी के साथ डॉ व कर्मचारी पर गंभीर आरोप जड़ दिया। सवाल ये उठता है कि आखिर स्वास्थ्य केंद्र मे वेश्यावृति किससे किया जाता है। उनके इस गंभीर आरोप से स्वास्थ्य केंद्र मे कार्यरत कर्मचारी भी सवालों के घेरे मे आ गये है ? डॉ खंडे ने वेश्यावृति किसके साथ करते है इसका खुलासा नहीं किया ,जिससे स्वास्थ्य विभाग ही सवालों के घेरे आ गया है। डॉ रणजीत खांडे ने आरोप लगाया है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मे सी,एम,एच, ओ कार्यालय से मिले राशि को घटिया स्टुमेंट व सामाग्री खरीद कर डॉ व कर्मचारी कमाई कर गरीब जनता के पैसो को भ्रष्टाचार की भेट चड़ाकर कमाई कर रहे है। अस्पताल में एक्सपायरी डेट की दवाओं से ईलाज किया जाता है।

ये भी पढ़ें -प्रधानमंत्री मोदी ने किया एयरपोर्ट के नए टर्मिनल का शिलान्यास


प्रहलाद साहु दवाईंयो का काला पीला कर बाहर भी बेचता है, विरोध करने पर इन लोगो द्वारा नक्सल क्षेत्र का हवाला देते हुए उन्हें अगवा कर जान से मारने व मारपीट करने की धमकी देते है इसकी शिकायत थाना मे भी दर्ज कराई है।वही अस्पताल के प्रभारी बीएमओ डॉ पाशी ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है ,बहरहाल डॉ खांडे ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारियो पर गंभीर आरोप लगाने के बाद स्वास्थ्य केंद्र ही अब सवालों के घेरे मे आ गया है सवाल उठता है कि विभाग के एक चिकित्सक बेहद गंभीर शर्मनाक आरोप लगाया तब इसकी जांच अब तक क्यो नही हुई जिस डॉ को कार्य मे अनुपस्थित पाये जाने के बाद विधायक व कांग्रेस नेताओं ने उपस्थिति पंजी मे संदिग्ध हस्ताक्षर कर डयुटी से नदारद होने का मामला उजागर किया है। इस पर अब तक कार्यवाही क्यो नही हुई को लेकर उच्चाधिकारी संदेह के दायरे मे दिख रहे है।
ये भी पढ़ें -महज 8 साल का नागा साधु जिसने छोटी उम्र में ही त्याग दिया घर बार


स्वास्थ्य केंद्र के एक चिकित्सक व्दारा अपने ही विभाग के अधिकारी कर्मचारियों पर शराबखोरी,वेश्यावृति,भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगा रहे है बेहद गंभीर मामला होने के बाद उच्च अधिकारी खामोश बैठे है जो चर्चा का विषय बना हुआ है। आरोप है कि जिला भर मे स्वास्थ्य केंद्रो मे उपस्थिति पंजी मे संदिग्ध हस्ताक्षर कर जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालो की संख्या दिना दिन बड़ रही है लेकिन विभाग मे अधिकारियों की उदासीनता के चलते व्यवस्था चौपट हो रहा है।

Web Title : Jr. doctors charge allegations against senior doctors

जरूर देखिये