मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनीटरिंग कमेटी प्रत्याशियों से मांग रही खर्च का हिसाब,50 वीडियो किए गए चिन्हित

 Edited By: Renu Nandi

Published on 06 Dec 2018 04:24 PM, Updated On 06 Dec 2018 04:23 PM

इंदौर। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार प्रसार में किये खर्च के बाद अब सोशल मीडिया पर किये गए खर्च पर भी आयोग की नज़र है। चुनाव के दौरान प्रत्याशियों के द्वारा किए आयोजन,सभा के अलावा सोशल मीडिया पर किये गए प्रचार प्रसार के खर्च को भी प्रत्याशियों के खाते में जोड़ा जाएगा। प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनीटरिंग कमेटी यानी एमसीएमसी के द्वारा इंदौर की नौ विधानसभा के सभी प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार-प्रसार में खर्च की गई राशि का हिसाब-किताब लिया जा रहा है।
ये भी पढ़ें -जेलों को हाईटेक बनाने की कवायद, कैमरे और इलेक्ट्रॉनिक फेंसिंग में खर्च होंगे सात करोड़
कमेटी ने अब तक 50 वीडियो चिन्हित किए गए हैं,जिनका प्रयोग सोशल मीडिया पर विज्ञापनों के तौर पर भी किया गया है। एमसीएमसी कमिटी की प्रमुख नेहा मीना के मुताबिक प्रत्याशियों के सोशल मीडिया पर किए गए खर्चों का ब्यौरा तैयार किया जा रहा है। हालांकि अभी निर्वाचन आयोग ने खर्च की राशि सुनिश्चित नहीं की है। कि कितना राशि निर्धारीत की जाए सोशल मीडिया पर चले 50 वीडियो के प्रति मिनट का खर्च चुनाव आयोग ने डेढ़ लाख रुपए तय किया है और लेकिन इसमें भी अभी तय मापदंड सामने नहीं आये हैं। लेकिन यदि प्रति वीडियो का खर्च प्रत्याशियों के खर्च खाते में जुड़ा गया तो 28 लाख की खर्च लिमिट के ऊपर भी राशि प्रत्याशियों की जा सकती है। अब तक के आलकन में महू के कांग्रेस उम्मीदवार अंतरसिंह दरबार की खर्च राशि 18लाख सामने आयी है,अब ऐसे में सोशल मीडिया के खर्च के बाद राशि में और वृद्धि दर्ज़ हो जाएगी।
ये भी पढ़ें -दो गुटों में विवाद पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, फ्लैग मार्च निकाल बंद कराई दुकानें

हालांकि निर्वाचन आयोग के द्वारा निर्धारित राशि की प्रतीक्षा अभी इंदौर की मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनीटरिंग कमेटी प्रशासन कर रहा है। गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर इस दौरान कई आपत्तिजनक और भड़काऊ मैसेज भी तेजी से वायरल हुए थे जिस पर एफआईआरदर्ज करने की बात भी कही जा रही है..

Web Title : mp Assembly Elections 2018:

जरूर देखिये