डीएमएफ की गवर्निंग बॉडी में जनप्रतिनिधियों को नही मिली जगह, समिति में क्षेत्रीय सांसद व विधायक शामिल नहीं

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 16 Aug 2019 04:43 PM, Updated On 16 Aug 2019 04:43 PM

कोरबा। डीएमएफ की गवर्निंग बॉडी में क्षेत्रीय सांसद को जगह नहीं मिली है। वहीं निगम महापौर, सभापति और करतला जनपद अध्यक्ष को गवर्निंग बॉडी में शामिल किया गया है। जबकि पिछली सरकार में सांसद को कमेटी में रखा गया था। वहीं विधायक भी कमेटी से बाहर रखा गया है।

read more: छत्तीसगढ़ विधानसभा : सीएम ने कहा डीएमएफ की नई गाइडलाइन के अनुसार होंगे कार्य, आबादी को सीधा लाभ देने के लिए खर्च होगी राशि

बता दें कि डीएमएफ की नई नीति में जनप्रतिनिधियों को कमेटी में शामिल करना है। लेकिन यहां ऐसा नहीं किया गया। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत की धर्मपत्नी ज्योत्सना महंत कोरबा सांसद हैं।

read more: मेडिकल कॉलेज के छात्र ने की खुदकुशी, शासकीय कॉलेज की पांचवी मंजिल से लगाई छलांग

जिला खनिज न्यास(डीएमएफ) की समिति में विधायकों को रखा जाने का प्रावधान है। सरकार बदलने के बाद नई गाइडलाइन में प्रभारी मंत्री को अध्यक्ष बनाया गया है। विधायक समिति के सदस्य बनाये गए हैं। पहले दो ही सरपंच शामिल किए जाते थे नई नीति के अनुसार अब 10 सरपंच शामिल किया जाना है।

Web Title : Public representatives not found in DMF governing body, regional MP and MLA not included in the committee

जरूर देखिये