नहर में मिला 10वीं के लापता छात्र का शव, रिश्तेदार निकला हत्या का आरोपी

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 11 Jan 2019 11:05 AM, Updated On 11 Jan 2019 11:05 AM

ग्वालियर। ग्वालियर से छह दिन पहले कोचिंग जाते समय अगवा हुए 10 वीं के छात्र की हत्या की गई है। किडनेपर्स ने उसे अगवा करने के कुछ घंटे बाद ही जिला मुरैना के जौरा में ले जाकर नहर में फेंक दिया था।दोनों आरोपी छात्र के रिश्तेदार हैं। जिनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पढ़ें- केंद्र ने शुरू किया क्लीन एयर कैंपेन, 2024 तक प्रदूषण 30 फीसदी घटाने का लक्ष्य

आपको बता दें 5 जनवरी 2019 की सुबह गोवर्धन कॉलोनी के रहने वाले 15 साल के सत्यम को अगवा कर लिया गया था। इंट्रोगेशन में हत्यारे ने बताया कि सत्यम को इसलिए मारा क्योंकि वह उसके चरित्र के बारे में राज जान चुका था। इसलिए प्लानिंग से उसे अगवा कर हत्या कर दी। चूंकि आरोपी सत्यम के रिश्तेदार थे इसलिए 4 जनवरी की रात आरोपी सत्यम के घर आये और सुबह मुरैना लौटते वक्त उसे दीनदयाल नगर में कोचिंग छोडऩे के बहाने अपनी कार से दोनों साथ ले गए और उसे घुमाने के बहाने मुरैना होते हुए जौरा, सबलगढ़ ले जाकर नहर किनारे कार रोकी। सत्यम को भी नीचे उतार कर नहर के पास खड़ा किया, फिर विवेक ने उसे लात मारकर नहर में फेंक दिया। हत्या के बाद दोनों हत्यारे उसका बैग और मोबाइल लेकर चले गए।

पढ़ें-कमलनाथ ने कहा- ये तो केवल ट्रेलर है, अभी तो बीजेपी के बहुत से खुलासे होना बाकी

सत्यम तैरना नहीं जानता था तो गहरी नहर में बहता चला गया। हत्या के बाद दोनों हत्यारे उसका बैग और मोबाइल लेकर चले गए। गुरुवार को पुलिस ने उनकी निशानदेही पर जौरा की नहर से सत्यम का शव और हत्यारों के घर से उसका बैग और मोबाइल बरामद किया।हत्यारों ने नादान सत्यम को क्यों मारा सबलगढ़, जौरा में वजह को लेकर कई तरह की बाते हैं। उधर हत्यारा भी पुलिस को बता चुका है कि हत्या की असली वजह क्या है। लेकिन मामला सामने आने के बाद पुलिस हत्या की वजह को लेकर चुप्पी साधे है। पुलिस का कहना है कि हत्या आरोपी विवेक जादौन अपराधी है। इससे पहले भी मुरैना में कई संगीन वारदातें कर चुका है। उसकी बात पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर सकते। इसलिए तस्दीक की जा रही है।

 

Web Title : The body of a missing 10th student found in the Canal

जरूर देखिये