चूहों पर किए गए नए अध्ययन से फ्लू का सार्वभौमिक टीका विकसित होने की संभावना बढ़ी |

चूहों पर किए गए नए अध्ययन से फ्लू का सार्वभौमिक टीका विकसित होने की संभावना बढ़ी

चूहों पर किए गए नए अध्ययन से फ्लू का सार्वभौमिक टीका विकसित होने की संभावना बढ़ी

: , November 29, 2022 / 08:41 PM IST

वाशिंगटन, 25 नवंबर (भाषा) वैज्ञानिकों ने इन्फ्लूएंजा ‘ए’ और ‘बी’ वायरस के ज्ञात 20 उप-स्वरूपों के ‘एंटीजन’ से युक्त एक नया टीका विकसित किया है, जो फ्लू के सार्वभौमिक टीकों का आधार बन सकता है। एक अध्ययन से यह जानकारी मिली है।

इस टीके को अमेरिका और कनाडा के अनुसंधानकर्ताओं ने विकसित किया है। अध्ययन के अनुसार टीके के कारण चूहों और अन्य जीवों में एंटीबॉडी का निर्माण हुआ।

इसमें कहा गया है कि यह टीका जीवों को बीमारी के लक्षणों और संक्रमण के बाद होने वाली मौत से बचा सकता है।

अध्ययन के अनुसार, व्यापक वैश्विक निगरानी के बावजूद, यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि फ्लू का कौन सा स्वरूप अगली फ्लू महामारी का कारण बनेगा। इसलिए एक सार्वभौमिक टीका का विकास अहम है।

साइंस नामक पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पिछले प्रयासों से भिन्न तरीका अपनाया और हर उप-स्वरूप के ‘एंटीजन’ को प्रक्रिया में शामिल किया।

अध्ययन के अनुसार चूहों के टीकाकरण के चार महीने बाद भी उनमें एंटीबॉडी का स्तर लगभग स्थिर रहा।

भाषा अविनाश सुभाष

सुभाष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)