केजरीवाल की पत्नी की सक्रियता दर्शाती है कि वे लालू-राबड़ी से प्रेरित हैं:रविशंकर प्रसाद |

केजरीवाल की पत्नी की सक्रियता दर्शाती है कि वे लालू-राबड़ी से प्रेरित हैं:रविशंकर प्रसाद

केजरीवाल की पत्नी की सक्रियता दर्शाती है कि वे लालू-राबड़ी से प्रेरित हैं:रविशंकर प्रसाद

:   Modified Date:  March 30, 2024 / 12:14 AM IST, Published Date : March 30, 2024/12:14 am IST

पटना, 29 मार्च (भाषा) भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को कहा कि ऐसा लगता है कि जेल में बंद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने सहयोगी लालू प्रसाद से प्रेरणा ली है जिन्होंने भ्रष्टाचार के मामले में फंसने के बाद सत्ता की बागडोर अपनी पत्नी को सौंप दी थी।

भाजपा ने प्रसाद को लगातार दूसरी बार पटना साहिब लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। अपने गृह नगर के पहले दौरे पर पूर्व केंद्रीय मंत्री यहां पत्रकारों से बात कर रहे थे।

नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्रित्व काल के पहले सात वर्षों में कानून और न्याय विभाग संभालने वाले प्रसाद से धनशोधन के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए गए आम आदमी पार्टी प्रमुख के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इन दिनों केजरीवाल की पत्नी काफी सक्रिय नजर आ रही हैं। उन्हें उस कुर्सी पर देखा जा सकता है जिस पर उनके पति दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर बैठते थे।’’

केजरीवाल की पत्नी सुनीता अपने पति के सत्ता में रहने के दौरान राजनीति से दूर रहीं लेकिन हाल के दिनों में उन्होंने कुछ वीडियो बयान जारी किए हैं।

प्रसाद ने ‘इंडिया’ गठबंधन के साथ केजरीवाल के जुड़ाव का जिक्र किया जिसमें राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद भी शमिल हैं। लालू ने 1997 में चारा घोटाला मामले में आसन्न गिरफ्तारी का सामना करने पर अपनी पत्नी राबड़ी देवी को बिहार का मुख्यमंत्री बना दिया था।

भाजपा नेता ने टिप्पणी की, ‘‘हो सकता है कि एक सहयोगी के रूप में केजरीवाल ने लालू प्रसाद से कुछ तरकीबें सीखी हों। सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी के दावों के साथ उन्होंने अन्ना हजारे आंदोलन का नेतृत्व किया था।’’

उन्होंने केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में दिल्ली में 31 मार्च को होने वाली रैली का जिक्र करते हुए विपक्षी गुट ‘इंडिया’पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘उन्हें राष्ट्रीय राजधानी में रैली की अनुमति मिल गई है, जहां वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अपनी निंदा जारी रखेंगे। हमारे लोकतंत्र की मजबूती का इससे बेहतर सबूत क्या हो सकता है।’’

भाषा अनवर शोभना

शोभना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers