विदेशी बाजारों की मजबूती से मूंगफली को छोड़कर बाकी सभी तेल-तिलहन कीमतों में सुधार |

विदेशी बाजारों की मजबूती से मूंगफली को छोड़कर बाकी सभी तेल-तिलहन कीमतों में सुधार

विदेशी बाजारों की मजबूती से मूंगफली को छोड़कर बाकी सभी तेल-तिलहन कीमतों में सुधार

:   Modified Date:  May 28, 2024 / 07:57 PM IST, Published Date : May 28, 2024/7:57 pm IST

नयी दिल्ली, 28 मई (भाषा) विदेशी बाजारों में तेजी के रुख के बीच देश में मंगलवार को मूंगफली तेल-तिलहन को छोड़कर (दाम पूर्ववत) बाकी सभी तेल-तिलहनों के दाम मजबूत बंद हुए।

मलेशिया एक्सचेंज में दो प्रतिशत से अधिक की तेजी है जबकि शिकॉगो एक्सचेंज में एक प्रतिशत से अधिक की तेजी है। अधिक लागत के कारण दाम ऊंचा होने की वजह से सुस्त कारोबार के बीच मूंगफली तेल-तिलहन के दाम अपरिवर्तित रहे लेकिन बाकी सभी तेल-तिलहन (सरसों, सोयाबीन, कच्चा पामतेल (सीपीओ) एवं पामोलीन तथा बिनौला तेल) मजबूत बंद हुए।

बाजार के जानकार सूत्रों ने कहा कि सहकारी संस्था हाफेड द्वारा सरसों बेचने के प्रयास किये जा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि हाफेड को इस बात को ध्यान में रखना होगा कि अगर वह बिक्री करती भी है तो न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम कीमत पर न करे क्योंकि अब भी किसानों के पास बहुत मात्रा में सरसों का स्टॉक बचा हुआ है। अगर हाफेड ने एमएसपी से कम दाम पर बिक्री की, तो उन किसानों के सरसों के दाम भी कम बोले जाने लगेंगे और सरसों किसान अत्यधिक दबाव में आ जायेंगे।

उन्होंने कहा कि जून-जुलाई में देश में सोयाबीन, मूंगफली, सूरजमुखी और कपास जैसी फसलों की बुवाई की जानी है और सरकार को इन फसलों के किसानों के लाभ को ध्यान में रखकर ही कोई पहल या नीति बनानी चाहिये।

सूत्रों ने कहा कि अगर कभी सरकार को खाद्य तेलों की महंगाई की चिंता हो तो उसे सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिये खाद्य तेल वितरण के विकल्प को अपनाने के बारे में विचार करना चाहिये। ऐसा कदम उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार ने उठाकर खाद्य तेलों की महंगाई पर अंकुश लगाने का एक सफल प्रयास पहले कर चुकी है। इस पहल की समीक्षा करते हुए इसे और दुरुस्त किया जा सकता है।

तेल-तिलहनों के भाव इस प्रकार रहे:

सरसों तिलहन – 6,100-6,150 रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली – 6,200-6,475 रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 14,850 रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली रिफाइंड तेल 2,245-2,545 रुपये प्रति टिन।

सरसों तेल दादरी- 11,850 रुपये प्रति क्विंटल।

सरसों पक्की घानी- 1,915-2,015 रुपये प्रति टिन।

सरसों कच्ची घानी- 1,915-2,030 रुपये प्रति टिन।

तिल तेल मिल डिलिवरी – 18,900-21,000 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 10,300 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 10,150 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 8,775 रुपये प्रति क्विंटल।

सीपीओ एक्स-कांडला- 8,750 रुपये प्रति क्विंटल।

बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 10,050 रुपये प्रति क्विंटल।

पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 9,925 रुपये प्रति क्विंटल।

पामोलिन एक्स- कांडला- 9,000 रुपये (बिना जीएसटी के) प्रति क्विंटल।

सोयाबीन दाना – 4,870-4,890 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन लूज- 4,670-4,790 रुपये प्रति क्विंटल।

मक्का खल (सरिस्का)- 4,075 रुपये प्रति क्विंटल।

भाषा राजेश राजेश अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers