आईसीआईसीआई बैंक जेपी एसोसिएट्स के एकमुश्त निपटान प्रस्ताव पर गौर करेः एनसीएलएटी |

आईसीआईसीआई बैंक जेपी एसोसिएट्स के एकमुश्त निपटान प्रस्ताव पर गौर करेः एनसीएलएटी

आईसीआईसीआई बैंक जेपी एसोसिएट्स के एकमुश्त निपटान प्रस्ताव पर गौर करेः एनसीएलएटी

:   Modified Date:  June 11, 2024 / 06:14 PM IST, Published Date : June 11, 2024/6:14 pm IST

नयी दिल्ली, 11 जून (भाषा) राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने जयप्रकाश एसोसिएट्स लिमिटेड (जेएएल) की याचिका पर आईसीआईसीआई बैंक को नोटिस जारी कर कंपनी की तरफ से पेश एकमुश्त निपटान (ओटीएस) प्रस्ताव पर 24 जून तक विचार करने को कहा है।

एनसीएलएटी की कार्यवाही के दौरान जेएएल ने अपने वकील के माध्यम से कहा कि यदि निजी क्षेत्र का बैंक उसके ओटीएस प्रस्ताव को स्वीकार कर लेता है तो वह 18 सप्ताह के भीतर पूरा भुगतान करने की इच्छुक है।

हालांकि, ऋणदाताओं ने इस प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा था कि कंपनी पर कुल 26,000 करोड़ रुपये से अधिक कर्ज है।

इससे पहले जेएएल ने राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के समक्ष लेनदारों के लिए एकमुश्त निपटान प्रस्ताव रखा था। उसमें 200 करोड़ रुपये की अग्रिम राशि देने और लगभग 16,000 करोड़ रुपये की शेष राशि को प्रस्ताव मंजूर किए जाने के 18 सप्ताह के भीतर या उससे पहले भुगतान करने की बात कही गई थी।

हालांकि, एनसीएलटी की इलाहाबाद पीठ ने इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए जेएएल के खिलाफ कॉरपोरेट दिवाला समाधान प्रक्रिया (सीआईआरपी) शुरू करने का निर्देश दे दिया था। कंपनी ने इसे एनसीएलएटी के समक्ष चुनौती दी हुई है।

अपीलीय न्यायाधिकरण की दो सदस्यीय अवकाश पीठ ने सोमवार को पारित अपने आदेश में कहा कि जयप्रकाश एसोसिएट्स सुनवाई की अगली तारीख तक कुछ बड़ी राशि जमा करने पर भी विचार कर सकती है।

इस मामले में आईसीआईसीआई बैंक और कंपनी के अंतरिम समाधान पेशेवर (आईआरपी) को नोटिस जारी किया गया है। इसके साथ ही 24 जून को सुनवाई की अगली तारीख तक बैंक को कंपनी के प्रस्ताव पर गौर करने को कहा गया है।

जेएएल ने अपनी याचिका में आदेश को स्थगित करने के लिए अर्जी लगाई हुई है।

एनसीएलएटी की सुनवाई के दौरान 25,000 से अधिक कर्मचारियों और जेएएल द्वारा विभिन्न परियोजनाओं को जारी रखने से जुड़ी आशंकाओं को भी उठाया गया।

भाषा प्रेम प्रेम अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers