आकर्षक स्थल के रूप में उभर रहा भारत, अगले दशक में नेतृत्व करने को तैयार : चंद्रशेखरन |

आकर्षक स्थल के रूप में उभर रहा भारत, अगले दशक में नेतृत्व करने को तैयार : चंद्रशेखरन

आकर्षक स्थल के रूप में उभर रहा भारत, अगले दशक में नेतृत्व करने को तैयार : चंद्रशेखरन

:   Modified Date:  May 23, 2024 / 08:40 PM IST, Published Date : May 23, 2024/8:40 pm IST

नयी दिल्ली, 23 मई (भाषा) टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लि. के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा कि भारत एक आकर्षक क्षेत्र है और अगले दशक में नेतृत्व को पूरी तरह से तैयार है।

चंद्रशेखरन ने टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लि. (टीसीपीएल) के शेयरधारकों को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया अनिश्चितता का सामना कर रही है और वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर महामारी से लेकर वैश्विक स्तर पर जारी तनाव से जुड़ी चुनौतियों की वजह से सुस्त बनी हुई है।

टाटा संस के चेयरमैन चंद्रशेखरन ने कहा, ‘‘इस वैश्विक पृष्ठभूमि के बीच, भारत नई वैश्विक व्यवस्था में अपनी भूमिका को परिभाषित करते हुए एक आकर्षक स्थान के रूप में उभर रहा है।’’

उन्होंने टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स की वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था ने वैश्विक स्तर पर प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद भी मजबूती दिखायी है।

चंद्रशेखरन ने कहा, ‘‘मजबूत बही-खाता, बेहतर बैंक प्रणाली, कंपनी कर की अनुकूल दरें, बेहतर पूंजीगत व्यय और एक मजबूत सार्वजनिक डिजिटल बुनियादी ढांचे के साथ भारत अगले दशक का नेतृत्व करने के लिए तैयार है।’’

उन्होंने कहा कि दुनिया अनिश्चितता के दौर का सामना कर रही है और भू-राजनीतिक बदलाव आपूर्ति श्रृंखलाओं को नया आकार दे रहे हैं। वहीं ऊर्जा सुरक्षा और उसमें बदलाव गति पकड़ रहे हैं।

चंद्रशेखरन ने कहा, ‘‘कृत्रिम मेधा (एआई) मुख्यधारा में आ रहा है, उत्पादकता बढ़ा रहा है और नवीन उत्पाद संभावनाओं के द्वार खोल रहा है।’’

उन्होंने भारत के उपभोक्ता बाजार पर कहा कि युवा आबादी, बढ़ते मध्यम वर्ग, तेजी से शहरीकरण, खर्च योग्य बढ़ती आय और बढ़ती आकांक्षाओं के साथ यह एक ‘विशाल अवसर’ प्रदान करता है।

चंद्रशेखरन ने कहा कि वित्त वर्ष 2024-25 और उसके बाद के लिए टीसीपीएल की संभावनाओं को लेकर उन्हें काफी उम्मीदें हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम अपनी रणनीतिक प्राथमिकताओं पर अमल करने, सतत विकास को आगे बढ़ाने और हमसे जुड़े विभिन्न पक्षों को मूल्य प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’

भाषा रमण अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers