अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में एक पैसे का सुधार, 77.49 पर रहा

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में एक पैसे का सुधार, 77.49 पर रहा

: , May 13, 2022 / 04:47 PM IST

मुंबई, 13 मई (भाषा) मुद्रास्फीति संबंधी चिंताओं और अमेरिकी मुद्रा की मजबूती के चलते रुपये ने शुक्रवार को अपनी शुरुआती बढ़त गंवा दी और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले सिर्फ एक पैसे की तेजी के साथ 77.49 (अनंतिम) के स्तर पर बंद हुआ।

विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि अन्य क्षेत्रीय मुद्राओं में कमजोरी और निराशाजनक आर्थिक आंकड़ों का रुपये पर असर पड़ा। दिन के कारोबार में रुपया एक सीमित दायरे में रहा।

इस दौरान भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के हस्तक्षेप से रुपये की गिरावट को थामने में थोड़ी मदद मिली।

अंतर-बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 77.35 पर खुला और दिन के कारोबार में 77.26 से 77.49 के दायरे में रहा।

कारोबार के अंत में रुपया 77.49 पर बंद हुआ, जो पिछले बंद भाव से सिर्फ एक पैसे की बढ़त दर्शाता है।

रुपया बृहस्पतिवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 25 पैसे टूटकर 77.50 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ था।

डॉलर सूचकांक के मजबूत होने और विदेशी कोषों की बिकवाली के चलते रुपये में साप्ताहिक आधार पर 57 पैसे की गिरावट हुई।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा, ‘‘सभी कारकों के बीच नकदी कारक अनिवार्य रूप से हालिया बाजार में सबसे महत्वपूर्ण है। बाजार भागीदार सुरक्षित जगह की तलाश कर रहे हैं।’’

परमार ने कहा कि क्षेत्रीय मुद्राओं में कमजोरी और निराशाजनक आर्थिक आंकड़ों का असर स्थानीय मुद्रा पर पड़ा, जबकि आरबीआई के हस्तक्षेप ने नुकसान को सीमित किया।

खाद्य वस्तुओं की महंगाई के चलते खुदरा मुद्रास्फीति अप्रैल में 7.79 प्रतिशत के उच्च स्तर पर पहुंच गई।

इस बीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.05 प्रतिशत गिरकर 104.79 पर आ गया।

शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 5,255.75 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 1.56 प्रतिशत बढ़कर 109.13 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर पहुंच गया।

भाषा पाण्डेय प्रेम

प्रेम

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)