बैंक, वित्तीय शेयरों में भारी लिवाली से सेंसेक्स 56,000 अंक के पार |

बैंक, वित्तीय शेयरों में भारी लिवाली से सेंसेक्स 56,000 अंक के पार

बैंक, वित्तीय शेयरों में भारी लिवाली से सेंसेक्स 56,000 अंक के पार

: , July 22, 2022 / 06:08 PM IST

मुंबई, 22 जुलाई (भाषा) घरेलू शेयर बाजार में लगातार छठे दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 390 अंक से अधिक चढ़कर 56,000 के पार पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली और वैश्विक बाजारों में सकरात्मक रुख के बीच बैंक और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में खरीदारी से बाजार को समर्थन मिला।

तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 390.28 अंक यानी 0.70 प्रतिशत बढ़कर 56,072.23 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 504.1 अंक तक चढ़ गया था।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 114.20 अंक यानी 0.69 प्रतिशत की मजबूती के साथ 16,719.45 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में अल्ट्राटेक सीमेंट, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, टाइटन कंपनी, कोटक महिंद्रा बैंक और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयर प्रमुख रूप से लाभ में रहे।

वहीं, दूसरी तरफ नुकसान में रहने वाले शेयरों में इन्फोसिस, एनटीपीसी, पावरग्रिड, विप्रो और इंडसइंड बैंक शामिल हैं।

सेंसेक्स के 30 शेयरों में 18 लाभ में रहे।

इसके अलावा बीएसई के स्मॉलकैप सूचकांक 0.21 प्रतिशत बढ़ गया जबकि मिडकैप सूचकांक में 0.17 प्रतिशत की गिरावट हुई।

बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी में जारी जोरदार तेजी से इस सप्ताह दोनों सूचकांक चार प्रतिशत तक चढ़ गए।

कोटक सिक्योरिटीज के इक्विटी अनुसंधान (खुदरा) प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘घरेलू शेयर बाजारों को मुद्रास्फीति के चरम पर पहुंचने की आशंकों के बीच जिंसों की कीमतों में गिरावट और विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली में कमी से समर्थन मिला है। विदेशी निवेशक जुलाई, 2022 में अब तक कुछ दिनों से खरीदार बने हुए हैं….।’’

एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में जबकि दक्षिण कोरिया का कॉस्पी तथा चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक नुकसान में रहे।

यूरोप के प्रमुख बाजार शुरूआती कारोबार में मजबूती के साथ कारोबार कर रहे थे। अमेरिका के शेयर बाजार बृहस्पतिवार को तेजी के साथ बंद हुए।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘विदेशी निवेश में वृद्धि और ठोस तिमाही नतीजों से घरेलू मांग बढ़ रही है। बड़े पैमाने पर लिवाली के साथ मजबूत तिमाही नतीजों के कारण बैंक शेयरों में खरीदारी हुई…।’’

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.51 प्रतिशत घटकर 103.33 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक बृहस्पतिवार को शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने 1,799.32 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।

भाषा जतिन रमण

रमण

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga