केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ आप का प्रदर्शन, पार्टी बोली- यह भाजपा की ‘‘सबसे बड़ी राजनीतिक गलती’’ |

केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ आप का प्रदर्शन, पार्टी बोली- यह भाजपा की ‘‘सबसे बड़ी राजनीतिक गलती’’

केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ आप का प्रदर्शन, पार्टी बोली- यह भाजपा की ‘‘सबसे बड़ी राजनीतिक गलती’’

:   Modified Date:  March 22, 2024 / 05:10 PM IST, Published Date : March 22, 2024/5:10 pm IST

(फोटो के साथ)

नयी दिल्ली, 22 मार्च (भाषा) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर शुक्रवार को आम आदमी पार्टी (आप) के सैकड़ों नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ सड़कों पर विरोध प्रदर्शन किया और इस दौरान ‘अरविंद तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं’ के नारे भी लगाए गए।

पुलिस ने प्रदर्शन के दौरान दिल्ली की कैबिनेट मंत्री मंत्री आतिशी, सौरभ भारद्वाज और अन्य को हिरासत में लिया।

प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े धन शोधन मामले में आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार कर लिया।

पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को भाजपा मुख्यालय की ओर मार्च करने से रोकने के लिए कई स्तरों पर अवरोधक लगाए गए और बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया। मध्य दिल्ली में राउज एवेन्यू मार्ग पर आप मुख्यालय के बाहर बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं का जमावड़ा रहा।

कई प्रदर्शनकारी सुबह करीब साढ़े बजे भाजपा कार्यालय की ओर कूच करने के लिए दीन दयाल उपाध्याय (डीडीयू) मार्ग पर इकट्ठा हुए, जहां पुलिस ने उन्हें बसों बैठा लिया।

कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए अर्धसैनिक बल के जवानों भी तैनात किए गए हैं।

पुलिस ने जब आप कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने की कोशिशों की तो कई सड़क पर भी लेट गए। महिला पुलिसकर्मियों को महिला प्रदर्शनकारियों को घसीटते हुए देखा गया। इनमें से कई प्रदर्शनकारी केजरीवाल की तस्वीर लिये हुए थे।

पुलिस के अनुसार अब तक 50 से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है और मध्य दिल्ली से दूर स्थित विभिन्न पुलिस थानों में ले जाया गया है।

आप ने कहा कि देश में ‘‘अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति’’ पैदा हो गई है और भाजपा नेताओं को जेल भेजकर या उन्हें डरा-धमका कर अपने साथ शामिल कर विपक्षी दलों को खत्म करने की कोशिश कर रही है।

पार्टी ने दावा किया कि केजरीवाल की गिरफ्तारी भाजपा की सबसे बड़ी राजनीतिक गलती साबित होगी।

जैसे ही दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी, सौरभ भारद्वाज और अन्य ने सुबह 11 बजे के आसपास भाजपा मुख्यालय की ओर बढ़ने की कोशिश की, उन्हें पुलिस ने हिरासत में लेकर बस में बैठा लिया।

पुलिस ने इस क्षेत्र में निषेधाज्ञा लागू होने का हवाला देते हुए प्रदर्शनकारियों को वहां से जाने के लिए कहा।

हिरासत में लेने की कोशिश के दौरान आप कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। इसी तरह जब महिला पुलिसकर्मियों ने आतिशी को रोकने की कोशिश की तो वह उनसे भिड़ गईं।

पार्टी कार्यकर्ता सड़क पर ही बैठ गए और नारे लगाने लगे। पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवानों ने उन्हें हटाने का प्रयास किया और नहीं हटने पर उन्हें हिरासत में ले लिया।

आतिशी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट कर कहा, ‘‘ मुझे आईटीओ पर शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करते समय दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया है। पहले यह लोग दिल्ली के मुख्यमंत्री को झूठे मामले में गिरफ्तार करते हैं, फिर शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वालों को भी गिरफ्तार किया जा रहा है। यह लोकतंत्र की हत्या नहीं तो क्या है?’’

पंजाब के मंत्री हरजोत बैंस को भी पुलिस ने हिरासत में लिया।

विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर डीडीयू मार्ग की ओर जाने वाली सड़कें बंद होने के कारण सुबह वाहन चालकों को आईटीओ, राजघाट और विकास मार्ग पर काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई जगहों पर यातायात जाम की स्थिति बनी रही। मध्य दिल्ली में ईडी कार्यालय क्षेत्र के आसपास की सड़कें भी बंद कर दी गईं।

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने आईटीओ स्टेशन को सुबह आठ बजे से शाम छह बजे तक बंद रखने की घोषणा की है।

हिरासत में लिए जाने के कुछ घंटों बाद, भारद्वाज ने अलीपुर पुलिस थाने से ‘एक्स’ पर एक वीडियो जारी किया जिसमें वह अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ ‘मेरा रंग दे बसंती चोला’ गाना गाते दिख दे रहे हैं।

पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के दौरान भारद्वाज ने आरोप लगाया कि केजरीवाल के परिवार के सदस्यों को घर में कैद कर दिया गया है और किसी को भी उनसे मिलने की इजाजत नहीं दी जा रही है।

गिरफ्तारी के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अपनी रात ईडी कार्यालय में बिताई।

आप के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) संदीप पाठक ने आरोप लगाया कि देश में ‘‘अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति’’ पैदा हो गई है और भाजपा विपक्षी दलों को खत्म करने की कोशिश कर रही है।

पाठक ने कहा कि ईडी ने केजरीवाल को ‘‘कपटपूर्ण’’ तरीके से गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। देरी हो सकती है लेकिन अंततः न्याय मिलेगा और सच्चाई की जीत होगी।’’

दिल्ली विधानसभा में ‘आप’ के मुख्य सचेतक दिलीप पांडे ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि केजरीवाल की गिरफ्तारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सबसे बड़ी राजनीतिक गलती साबित होगी और दिल्ली तथा देश की जनता लोकसभा चुनाव में इसका करारा जवाब देगी।

आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता अनुराग ठाकुर ने कहा कि आप नेता कह रहे हैं कि केजरीवाल जेल से सरकार चलाएंगे।

ठाकुर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ यह दिल्ली की जनता, कानून और लोकतंत्र का अपमान है। ईडी ने नौ बार समन दिया था, लेकिन वह (केजरीवाल) एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए। जांच में शामिल न होने की उनकी क्या मजबूरी थी?’’

भाजपा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि केजरीवाल की गिरफ्तारी ने लोकतंत्र के लिए गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि वह भारत के इतिहास में पहले मुख्यमंत्री बन गए हैं जिन्होंने गिरफ्तार होने के बावजूद पद नहीं छोड़ा है।

पंजाब के मुख्यमंत्री एवं आप नेता भगवंत मान ने शुक्रवार दोपहर केजरीवाल के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की और कहा कि पार्टी पूरी तरह से अरविंद केजरीवाल के साथ खड़ी है।

उन्होंने कहा, वह सिर्फ एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचार हैं तथा इससे वह और बड़े नेता बनकर उभरेंगे।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ‘एक्स’ पर यातायात परामर्श जारी किया। इसमें कहा गया, ‘‘डीडीयू मार्ग पर राजनीतिक दल के प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर, आईपी मार्ग, विकास मार्ग, मिंटो रोड और बहादुर शाह जफर मार्ग पर यातायात जाम रहेगा। वहीं, डीडीयू मार्ग को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। कृपया इन सड़कों पर यात्रा करने से बचें और तदनुसार अन्य वैकल्पिक मार्ग पर यात्रा करें।’’

गीता कॉलोनी और राजघाट पर भी भारी यातायात जाम देखा गया।

केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी ने भाजपा के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया।

भाषा

खारी पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers