बंगाल में ‘इंडिया’ गठबंधन के आकार न लेने का कारण अधीर रंजन चौधरी: अभिषेक बनर्जी |

बंगाल में ‘इंडिया’ गठबंधन के आकार न लेने का कारण अधीर रंजन चौधरी: अभिषेक बनर्जी

बंगाल में ‘इंडिया’ गठबंधन के आकार न लेने का कारण अधीर रंजन चौधरी: अभिषेक बनर्जी

:   Modified Date:  May 8, 2024 / 09:34 PM IST, Published Date : May 8, 2024/9:34 pm IST

(तस्वीर के साथ)

बहरामपुर (पश्चिम बंगाल), आठ मई (भाषा) तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने राज्य में विपक्षी दलों के गठबंधन ‘इंडिया’ के तहत सीट बंटवारा नहीं होने के लिए पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी को बुधवार को जिम्मेदार ठहराया।

बनर्जी ने कहा कि टीएमसी बंगाल में कांग्रेस के साथ सीट-बंटवारे चाहती थी ताकि ‘इंडिया’ गठजोड़ एक साथ लड़ सके।

उन्होंने पूछा कि कांग्रेस मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा ) के साथ क्यों गई, जो लंबे समय से राज्य में उसकी कट्टर दुश्मन है और इस गठजोड़ के लिए चौधरी को दोषी ठहराया।

अभिषेक बनर्जी ने बहरामपुर से टीएमसी उम्मीदवार यूसुफ पठान के समर्थन में यहां रोड शो करने के बाद कहा, “ बंगाल में ‘इंडिया’ गठबंधन के आकार नहीं लेने का एकमात्र कारण अधीर रंजन चौधरी हैं।”

पठान का मुकाबला इस सीट पर कांग्रेस के चौधरी से है।

विपक्षी गठबंधन के गठन के बाद से ही माकपा ने स्पष्ट कर दिया था कि वह बंगाल में भाजपा और टीएमसी दोनों के खिलाफ लड़ेगी।

अभिषेक बनर्जी ने दावा किया कि जब कांग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व – राहुल गांधी, सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे – देश के विभिन्न स्थानों पर टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठकों में भाग ले रहे थे तब चौधरी प्रेस वार्ता कर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते थे।

उन्होंने कहा, “ जिस दिन राहुल गांधी, सोनिया गांधी ने ममता बनर्जी के साथ बैठकर कहा कि हम भाजपा को हराने के लिए मिलकर लड़ेंगे, उस दिन अधीर चौधरी ने (बंगाल माकपा सचिव) मोहम्मद सलीम का हाथ पकड़ लिया और तृणमूल कांग्रेस को हराने का आह्वान किया। ”

अभिषेक बनर्जी ने कहा कि टीएमसी चाहती थी कि अन्य भाजपा विरोधी दल उस सीट पर पार्टी का समर्थन करें जहां वह मजबूत है, लेकिन चौधरी के कारण राज्य में यह सफल नहीं हो सका।

उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार अधीर रंजन चौधरी पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘हम पश्चिम बंगाल में 42 संसदीय क्षेत्रों में सीधे तौर पर भाजपा के खिलाफ लड़ रहे हैं, लेकिन बहरामपुर में हम भाजपा के साथ-साथ उसके वैकल्पिक उम्मीदवार से भी लड़ रहे हैं।’

चौधरी लगातार पांच बार से इस सीट से सांसद हैं और वह छठी बार फिर से मैदान में हैं। वहीं भाजपा ने निर्मल कुमार साहा को टिकट दिया है।

इस सीट पर 13 मई को चुनाव होना है।

भाषा

नोमान माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers