कांग्रेस ने तुष्टिकरण की राजनीति की, मोदी ने विकास से राजनीति की संस्कृति को बदल दिया: नड्डा |

कांग्रेस ने तुष्टिकरण की राजनीति की, मोदी ने विकास से राजनीति की संस्कृति को बदल दिया: नड्डा

कांग्रेस ने तुष्टिकरण की राजनीति की, मोदी ने विकास से राजनीति की संस्कृति को बदल दिया: नड्डा

:   Modified Date:  April 22, 2024 / 03:34 PM IST, Published Date : April 22, 2024/3:34 pm IST

लोरमी (छत्तीसगढ़), 22 अप्रैल (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सोमवार को कांग्रेस पर वोट-बैंक और तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर किसी का विकास पर ध्यान केंद्रित करते हुए देश में राजनीति की संस्कृति को बदल दिया है।

छत्तीसगढ़ में बिलासपुर जिले के लोरमी कस्बे में एक चुनावी रैली में नड्डा ने पिछले 10 वर्षों में भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला और कहा कि इस दौरान अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हुआ, अनुच्छेद 370 की समाप्ति हुई और तीन तलाक को खत्म कर दिया गया।

यह रैली बिलासपुर लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार तोखन साहू के पक्ष में आयोजित की गई थी। यहां सात मई को मतदान होगा।

नड्डा ने कहा, ”आज मोदी जी के नेतृत्व में राजनीति की संस्कृति बदल गई है। पहले पूछा जाता था कि कौन सी जाति (व्यक्ति) का है, अगड़ा या पिछड़ा, नदी के इस पार का या उस पार का, पहाड़ का या मैदान का है..कांग्रेस ने भाई-भाई को लड़ाया और वोट की राजनीति की। लेकिन मोदी जी ने भारत की राजनीति की परिभाषा बदल दी। उन्होंने काम करने का तरीका बदल दिया।”

उन्होंने कहा कि उनके नेतृत्व में देश ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास’ के नारे के साथ आगे बढ़ रहा है।

भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने (कांग्रेस) तुष्टीकरण की राजनीति की, जबकि मोदी जी ने ‘विकासवाद’ की राजनीति की।

नड्डा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए दावा किया कि कांग्रेस ने हमेशा भगवान राम और सनातन धर्म का विरोध किया है।

उन्होंने कहा, ”कांग्रेस हमेशा राम विरोधी और सनातन विरोधी रही है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाले संप्रग शासन के दौरान जब सोनिया गांधी संप्रग अध्यक्ष थीं, तब उन्होंने अदालत में हलफनामा दिया था कि राम काल्पनिक हैं और उनका कोई ऐतिहासिक आधार नहीं है…क्या यह सच नहीं है कि उनके वकील ने अदालत में राम मंदिर सुनवाई की तारीख को बढ़ाने की बात कही थी वरना इस मामले में फैसले का फायदा भाजपा को मिलेगा। उन्होंने (राम मंदिर निर्माण में) बाधा डालने का काम किया। राम मंदिर ट्रस्ट ने उन्हें (कांग्रेस को) अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के लिए आमंत्रित किया लेकिन उन्होंने इसे अस्वीकार कर दिया। क्या ऐसे राम-विरोधी लोगों को, जो हर चीज़ में राजनीति देखते हैं, आपका समर्थन मिलना चाहिए?”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ”वे सनातन विरोधी हैं। कांग्रेस के साथी और द्रमुक नेता स्टालिन के बेटे उदयनिधि स्टालिन ‘सनातन’ को डेंगू और मलेरिया कहते हैं लेकिन राहुल गांधी कुछ नहीं बोलते। यहां तक कि सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी भी कुछ नहीं बोलीं… एक और द्रमुक नेता ए राजा ने सनातन को एचआईवी से जोड़ दिया। क्या इन लोगों को समर्थन मिलना चाहिए।”

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस को देश विरोधी ताकतों का समर्थन करने में मजा आता है।

उन्होंने कहा, ”हाल ही में कर्नाटक में, जब नासिर हुसैन राज्यसभा के लिए चुने गए, तो विधानसभा में पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए गए। लेकिन कांग्रेस प्रमुख और कर्नाटक से आने वाले मल्लिकार्जुन खरगे ने कुछ नहीं बोला।”

नड्डा ने लोगों से कहा, ” जब हमारी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर उरी (आतंकी हमले) का बदला लिया तब कांग्रेस पार्टी ने सबूत मांगा। क्या ऐसी राष्ट्र-विरोधी ताकतों को आगे आने की अनुमति दी जानी चाहिए?” लोगों ने ‘ना’ में जवाब दिया।

उन्होंने कहा कि ‘इंडी’ गठबंधन के नेता या तो जेल में हैं या जमानत पर बाहर हैं।

भाषा संजीव राजकुमार

राजकुमार

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers