‘रोजगार क्रांति’ लाएगी कांग्रेस : मल्लिकार्जुन खरगे |

‘रोजगार क्रांति’ लाएगी कांग्रेस : मल्लिकार्जुन खरगे

‘रोजगार क्रांति’ लाएगी कांग्रेस : मल्लिकार्जुन खरगे

:   Modified Date:  March 30, 2024 / 11:50 AM IST, Published Date : March 30, 2024/11:50 am IST

नयी दिल्ली, 30 मार्च (भाषा) कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस रोजगार के अवसर बढ़ाने, उद्यमशीलता को सक्षम बनाने और युवाओं की आकांक्षाओं को साकार करने के लिए ठोस कदम उठाकर ‘रोजगार क्रांति’ की शुरुआत करेगी।

खरगे ने कहा कि कांग्रेस गारंटी देती है कि युवाओं का भविष्य अंधकारमय से उज्ज्वल हो जाएगा। उन्होंने ‘युवा न्याय’ की गारंटी दोहरायी, जिसे पार्टी ने सत्ता में आने पर लागू करने का वादा किया है।

उन्होंने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘कांग्रेस पार्टी युवा न्याय गारंटी के माध्यम से ‘रोजगार क्रांति’ लाएगी। हम रोजगार के अवसर बढ़ाने, उद्यमशीलता को सक्षम करने और हमारे युवाओं के सपनों और आकांक्षाओं को साकार करने के लिए ठोस कदम उठाएंगे।’

खरगे ने अपनी पार्टी द्वारा ‘युवा न्याय’ के तहत दी गई गारंटी को सूचीबद्ध किया।

कांग्रेस अध्यक्ष खरगे ने कहा कि ‘भारती भरोसा’ गारंटी के तहत, उनकी पार्टी एक रोजगार कैलेंडर के अनुसार, केंद्र सरकार की 30 लाख नयी नौकरियां प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि ‘पहली नौकरी पक्की’ के तहत पार्टी सभी शिक्षित युवाओं को प्रति वर्ष 1 लाख रुपये पर एक वर्ष की प्रशिक्षुता का अधिकार (राइट टू एप्रेंटिसशिप) प्रदान करेगी।

उन्होंने कहा कि ‘पेपर लीक से मुक्ति’ गारंटी के तहत पार्टी सभी पेपर लीक को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए एक कानून लाएगी। खरगे ने बताया कि पार्टी ने ‘गिग वर्कर्स’ के लिए बेहतर कामकाजी परिस्थितियों और सामाजिक सुरक्षा तथा युवाओं के लिए 5,000 करोड़ रुपये के ‘स्टार्टअप कोष’ का भी वादा किया है।

अस्थायी कर्मचारियों या ठेके पर काम करने वाले कर्मचारियों को ‘गिग वर्कर’ कहा जाता है।

कांग्रेस ने अपना लोकसभा चुनाव पांच न्याय – नारी न्याय, युवा न्याय, श्रमिक न्याय, किसान न्याय और हिस्सेदारी न्याय – के तहत 25 गारंटी पर केंद्रित रखा है। उसने सत्ता में आने पर इन्हें तुरंत लागू करने का वादा किया है।

भाषा अमित मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers