अधिकारी ने चुनाव ड्यूटी के दौरान ‘मानसिक उत्पीड़न’ का आरोप लगा डीसी के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी |

अधिकारी ने चुनाव ड्यूटी के दौरान ‘मानसिक उत्पीड़न’ का आरोप लगा डीसी के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी

अधिकारी ने चुनाव ड्यूटी के दौरान ‘मानसिक उत्पीड़न’ का आरोप लगा डीसी के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी

:   Modified Date:  May 8, 2024 / 07:52 PM IST, Published Date : May 8, 2024/7:52 pm IST

गुवाहाटी, आठ मई (भाषा) असम की एक क्षेत्राधिकारी ने नलबाड़ी के जिला आयुक्त (डीसी) के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है और अपने वरिष्ठ अधिकारी पर चुनाव ड्यूटी के दौरान ‘मानसिक उत्पीड़न, सार्वजनिक रूप से अपमानित करने और धमकी देने ’ का आरोप लगया है।

शिकायत पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नलबाड़ी की डीसी वर्णाली डेका ने आरोप लगाया कि पश्चिमी नलबाड़ी की क्षेत्राधिकारी (सीओ) अर्पणा शर्मा ने अपनी ड्यटी को ‘नजर अंदाज’ किया और अपनी ड्यूटी पूरा किए बिना ही वह राजकीय गुरदन उच्चतर माध्यमिक स्कूल में स्थापित केंद्रीय चुनाव प्रबंधन केंद्र को देर रात दो बजे ‘छोड़’ कर चली गईं।

नलबाड़ी जिला बारपेटा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है जहां मंगलवार को तीसरे चरण के तहत मतदान हुआ।

अपनी शिकायत में शर्मा ने आरोप लगाया कि उन्हें तिहू विधानसभा के ‘‘इश्यू और रसीद काउंटर’’ की जिम्मेदारी सौंपी गई थी और इसके लिए दिन में ही व्हाट्सएप पर आदेश जारी कर दिया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘ हमें यह जानकारी नहीं दी गई थी कि श्रम प्रबंधन आदि को कौन संभालेगा।’’

क्षेत्राधिकारी ने आरोप लगाया कि यहां तक सोमवार को निर्वाचन सामग्री जारी करने के दौरान भी इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

शर्मा ने अपनी शिकायत में दावा किया कि मतदान अधिकारियों के अपने-अपने बूथ से लौटने के बाद आधी रात के बाद मजदूरों की अनुपलब्धता के कारण प्राप्त सामग्री को निर्धारित स्थानों पर वापस नहीं ले जाया गया।

उन्होंने कहा, ‘‘…जब तिहू क्षेत्र के लगभग सात मतदान केंद्रों की सामग्री रात एक बजे के बाद एकत्र की जानी थी, तो डीसी महोदया आईं और मुझे अपमानित किया और अधिकारियों के सामने अपशब्दों का इस्तेमाल किया। उन्होंने मुझे इस आधार पर अपमानित करने की कोशिश की कि बक्सों को अभी भी मजदूरों द्वारा निर्दिष्ट स्थानों पर नहीं ले जाया गया है।’’

शिकायत के मुताबिक शर्मा ने जब बताया कि रात एक बजे मजदूरों की व्यवस्था करना उनके वश में नहीं है तो डेका ने उनके साथ गालीगलौज की।

शर्मा ने शिकायत में उल्लेख किया कि उन्होंने अपने करियर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने के डर से डीसी के साथ बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग की क्योंकि यह बहस लोकसभा चुनावों के सुचारू संचालन से संबंधित है।

भाषा धीरज अविनाश

अविनाश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers