गोवा: सड़क किनारे झुग्गियों से टकराई बस, चार मजदूरों की मौत |

गोवा: सड़क किनारे झुग्गियों से टकराई बस, चार मजदूरों की मौत

गोवा: सड़क किनारे झुग्गियों से टकराई बस, चार मजदूरों की मौत

:   Modified Date:  May 26, 2024 / 08:02 PM IST, Published Date : May 26, 2024/8:02 pm IST

पणजी, 26 मई (भाषा) दक्षिण गोवा जिले के एक औद्योगिक क्षेत्र में बेकाबू निजी बस सड़क किनारे बनी दो झोपड़ियों में जा घुसी, जिससे चार मजदूरों की मौत हो गई और पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि दुर्घटना शनिवार रात करीब 11.30 बजे वर्ना औद्योगिक क्षेत्र में हुई, उस समय सड़क निर्माण का काम करने वाले मजदूर झुग्गियों में सो रहे थे।

पुलिस उपाधीक्षक संतोष देसाई ने कहा कि बस चालक की पहचान पास के कार्टोलिम गांव के निवासी भरत गोवेकर के रूप में हुई है, उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

उन्होंने बताया कि वाहन चालक की चिकित्सा जांच से पुष्टि हुई है कि घटना के समय वह शराब के नशे में था।

एक मजदूर ने दावा किया कि बस चालक ने घटना स्थल पर मौजूद अन्य मजदूरों को घटना के बारे में किसी से शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक निजी कंपनी के कर्मचारियों को ले जा रही बस दो झुग्गियों में जा घुसी, जहां मजदूर सो रहे थे।

उन्होंने कहा, “चार मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पांच गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया।”

पुलिस ने बताया कि मजदूरों को एक ठेकेदार ने काम पर लगाया था।

एक मजदूर ने पत्रकारों को बताया कि बस उनकी झुग्गियों में जा घुसी। मजदूर रूपेंद्र कुमार माथुर ने दावा किया, “घटना के बाद, बस चालक ने हमें किसी से शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। बस चालक शराब के नशे में था।”

माथुर के चाचा रमेश माथुर और भाई अनिल माथुर की इस घटना में मौत हुई है।

उन्होंने यह भी दावा किया कि घटनास्थल पर चिकित्सा सहायता देर से पहुंची, जिसके कारण पीड़ितों को मडगांव के जिला अस्पताल ले जाने में देरी हुई।

रूपेंद्र माथुर ने यह भी कहा कि वह दुर्घटना प्रभावित झुग्गियों में से एक में रह रहे थे, लेकिन एक फोन कॉल सुनने के लिये झोपड़ी से बाहर आने के कारण वह बच गए।

उन्होंने कहा, “मोबाइल फोन पर बात करने के लिए झोपड़ी से बाहर आए तीन और लोग भी बच गए।”

गोवा के मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत ने घटना पर शोक व्यक्त किया और कहा कि नशे की हालत में गाड़ी चला रहे बस चालक के खिलाफ मामला दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

उन्होंने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में लिखा कि मजदूरों को झुग्गियों में ठहराने वाले ठेकेदार और उप-ठेकेदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा, “सरकार ठेकेदारों और उपठेकेदारों को काली सूची में डाल देगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।”

भाषा जोहेब प्रशांत

प्रशांत

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers