अंडमान-निकोबार के सुदूर दक्षिणी छोर ‘इंदिरा पॉइंट’ पर पहुंची ‘स्वर्णिम विजय मशाल’

अंडमान-निकोबार के सुदूर दक्षिणी छोर ‘इंदिरा पॉइंट’ पर पहुंची ‘स्वर्णिम विजय मशाल’

: , August 23, 2021 / 11:38 AM IST

पोर्ट ब्लेयर, 23 अगस्त (भाषा) भारत की 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर जीत के 50 वर्ष पूरे होने के अवसर पर ‘स्वर्णिम विजय’ मशाल देश के सुदूरवर्ती दक्षिणी छोर इंदिरा पॉइंट पर पहुंची। एक आधिकारिक वक्तव्य में यह जानकारी दी गई।

इसमें बताया गया है कि अंडमान-निकोबार कमान के अधिकारी मशाल को लेकर अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह स्थित इंदिरा पॉइंट पर रविवार को पहुंचे। अंडमान-निकोबार कमान की ओर से ट्वीट किया गया, ‘‘स्वर्णिम विजय वर्ष, विजय मशाल निकोबार द्वीपसमूह से होते हुए 22 अगस्त को इंदिरा पॉइंट पर पहुंची। यहां अंडमान-निकोबार कमान के संयुक्त सैन्य दल ने तिरंगा फहराया और भारत के सुदूर दक्षिणी छोर से रज (मिट्टी) ली।’’

वक्तव्य में बताया गया कि इससे पहले, विजय मशाल को अंडमान-निकोबार के सुदूरवर्ती उत्तरी छोर ‘लैंडफॉल द्वीप’ ले जाया गया था। ‘स्वर्णिम विजय वर्ष’ के अवसर पर अंडमान-निकोबार के सभी द्वीपों से गुजरते हुए मशाल को उत्तरी छोर से दक्षिणी छोर पर लाया गया।

इसके मुताबिक, भारत की जीत और हमारे युद्ध नायकों के बलिदान के संदेश को देश के सुदूर क्षेत्रों और तटों तक पहुंचाना इस यात्रा का उद्देश्य है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के 50 साल पूरे होने के अवसर पर गत 16 दिसंबर को राजधानी दिल्ली स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक की अमर ज्योति से ‘‘स्‍वर्णिम विजय मशाल’’ प्रज्‍ज्वलित कर देश के विभिन्न हिस्सों के लिए रवाना किया था। मशाल यात्रा के दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

भाषा

मानसी मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)