किरेन रीजीजू: मोदी ने फिर दिया सरकार में मौका |

किरेन रीजीजू: मोदी ने फिर दिया सरकार में मौका

किरेन रीजीजू: मोदी ने फिर दिया सरकार में मौका

:   Modified Date:  June 9, 2024 / 10:19 PM IST, Published Date : June 9, 2024/10:19 pm IST

नयी दिल्ली, नौ जून (भाषा) केंद्रीय मंत्रिमंडल में रविवार को शामिल किए गए किरेन रीजीजू का राजनीतिक जीवन दृढ़ता, प्रतिबद्धता और नेतृत्व की एक दिलचस्प कहानी है।

अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग जिले के नाखू गांव में 19 नवंबर 1971 को जन्मे रीजीजू ने एक साधारण शुरुआत भले ही की, लेकिन बहुत जल्द ही भारतीय राजनीति में एक प्रमुख खिलाड़ी बनने तक का लंबा सफर तय कर लिया।

दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतर्गत हंसराज कॉलेज में अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद, वह कानून की डिग्री (एलएलबी) प्राप्त करने के लिए विश्वविद्यालय के विधि संकाय परिसर में चले गए।

रीजीजू ने पहली बार 2004 में राजनीति में प्रवेश किया और 14वीं लोकसभा में अरुणाचल पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र से विजयी हुए।

उनकी दृढ़ता तब स्पष्ट हुई जब वे कांग्रेस में शामिल हुए और 2009 के लोकसभा चुनावों में असफलता के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू के सलाहकार के रूप में कार्य किया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में वापसी के साथ, रीजीजू के करियर ने एक नए चरण में प्रवेश किया।

लोकसभा के लिए 2014 में फिर से चुने जाने पर, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पूर्वोत्तर पर ध्यान केंद्रित करने की नीति का लाभ उठाया और ‘लुक ईस्ट’ नीति में एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में उभरे। अरुणाचल प्रदेश के लिए एक महत्वपूर्ण प्रतिनिधि के रूप में उनकी भूमिका 2019 में उनके फिर से चुने जाने से और भी मजबूत हुई।

उन्होंने 2014 से 2019 तक गृह राज्यमंत्री के रूप में सरकार में जिम्मेदारी निभाई। बाद में उन्होंने युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा राज्य मंत्री (अल्पसंख्यक मामले) के पदों पर भी अपनी प्रतिभा साबित की।

कानून मंत्री (2021-2023) के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, रीजीजू न्यायपालिका और कॉलेजियम प्रणाली के बारे में अपनी स्पष्ट राय के लिए जाने जाते थे। मई 2023 में पृथ्वी विज्ञान के कैबिनेट मंत्री के रूप में रीजीजू की नियुक्ति ने केंद्र सरकार में उनके महत्व को रेखांकित किया।

भाषा

प्रशांत सुरेश

सुरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers