‘सिद्धू के पास दिमाग नहीं है’ : अमरिंदर सिंह

‘सिद्धू के पास दिमाग नहीं है’ : अमरिंदर सिंह

: , January 23, 2022 / 09:28 PM IST

चंडीगढ़, 23 जनवरी (भाषा) पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को दावा किया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के पास ‘दिमाग नहीं’ है और उन्होंने (सिंह ने) पांच साल पहले पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस अक्षम व्यक्ति (सिद्धू) को पार्टी में शामिल न करने की सलाह दी थी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने साफ शब्दों में यह खुलासा भी किया कि राज्य में अवैध रेत खनन मामले में वर्तमान सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और कुछ अन्य कांग्रेस नेताओं की संलिप्तता की जानकारी मिलने के बावजूद, उन्होंने ‘‘पार्टी के प्रति अपनी निष्ठा की भावना से’’ कोई कार्रवाई नहीं की और इसलिए भी कि उन्हें सोनिया गांधी से ‘हरी झंडी’ नहीं मिली थी।

अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस के 22 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में अमरिंदर सिंह ने यह भी कहा कि उन्होंने ‘मी टू’ मामले में चन्नी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की थी, क्योंकि महिला आईएएस अधिकारी अपनी शिकायत पर कायम नहीं रह सकीं।

अमरिंदर सिंह की नयी पार्टी पीएलसी पंजाब में 20 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और शिअद (संयुक्त) के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। जब उनसे पूछा गया कि क्या आपने कहा था कि आप सिद्धू के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे, इस पर तत्कालीन पटियाला राजघराने के 79-वर्षीय नेता ने कहा, ‘‘मैंने कहा था कि हम उन्हें (सिद्धू को) जीतने नहीं देंगे, क्योंकि वह पूर्णत: अक्षम आदमी है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब कांग्रेस अध्यक्ष ने करीब पांच साल पहले यह पूछा था कि सिद्धू कैसे हैं, तो मैंने कहा था कि यह आदमी कांग्रेस पार्टी का सदस्य होने के बिल्कुल काबिल नहीं है। इसके बावजूद उन्होंने (श्रीमती गांधी ने) सिद्धू को पार्टी में शामिल कर लिया था।’’

अमरिंदर सिंह ने आगे कहा, ‘‘पहले ही दिन से मैंने कहा है कि इस आदमी के पास दिमाग नाम की चीज नहीं है। मैंने यह सब कांग्रेस अध्यक्ष से कहा था, जब उन्होंने मुझसे पूछा था कि सिद्धू कैसे पार्टी के लिए हितकारी साबित होंगे।’’

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में अमरिंदर ने कहा कि दूसरे कार्यकाल में मुख्यमंत्री के तौर पर अपने साढे चार साल के शासन में उन्होंने 92 प्रतिशत चुनावी वादे पूरे किये थे। उन्होंने कहा, ‘‘आप ही बताएं, मैंने क्या गलत किया है? यदि उन्होंने मुझे पहले इस्तीफे के लिए कहा होता तो मैं तभी इस्तीफा दे देता। सितम्बर 2021 में उन्होंने मुझे दिन में इस्तीफा के लिए कहा और मैंने शाम तक पद छोड़ दिया था।’’

उन्होंने चन्नी के खिलाफ कथित ‘मी टू’ मामले के बारे में भी बोला। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता महिला अधिकारी पीछे हट गयी थी।

भाषा

सुरेश नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)