Water Supply may be Stopped in These Areas till Diwali

अगले 20 दिनों तक इन इलाकों में नहीं होगी पानी की सप्लाई, दिवाली पर भी रहना पड़ सकता है प्यासा

अगले 20 दिनों तक इन इलाकों में नहीं होगी पानी की सप्लाई! Water Supply may be Stopped in These Areas till Diwali due to Cleanup gang Nahar

Edited By: , November 29, 2022 / 07:46 PM IST

नोएडा: Water Supply may be Stopped हर साल की तरह इस साल भी गंग नहर की सफाई के लिए गुरुवार से पानी की सप्लाई बाधित रहेगी, जिसके चलते आज से गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद में अगले 20 दिनों तक पानी की सप्लाई नहीं हो पाएगी। इतना ही नहीं इलाके के लोगों को दिवाली में भी प्यासा रहना पड़ेगा। बताया जा रहा है कि 26 अक्टूबर के बाद गंग नहर में पानी छोड़ा जाएगा। हालांकि प्रशासन ने लोगों को पानी की समस्या न हो इसलिए टैंकर की व्यवस्था की, जिससे जलआपूर्ति की जाएगी।

Read More:  MMS के बाद अंजलि अरोड़ा का एक और बेडरूम वीडियो आया सामने, देखने के बाद यूजर्स ने कहा – जब से वीडियो देखा तब से….

Water Supply may be Stopped मिली जानकारी के अनुसार, नोएडा, ट्रांस हिंडन, सिद्धार्थ विहार, वसुंधरा, इंदिरापुरम, डेल्टा कॉलोनी और प्रताप विहार समेत कई जगहों पर पानी की सप्लाई बाधित रहेगी। बताया जा रहा है कि इस दौरान नगर निगम के नलकूपों से पानी की आपूर्ति की जाएगी।

Read More: Shukra Pradosh Vrat 2022 : आज है शुक्र प्रदोष व्रत, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व और पूजा विधि 

नोएडा प्राधिकरण के विशेष कार्याधिकारी ने बताया कि गंग नहर की सफाई के कारण गंगा जल की आपूर्ति बंद की गई है और 26 अक्टूबर के बाद गंग नहर में पानी छोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि जहां पानी की समस्या होगी, वहां टैंकर से भी पानी भिजवाया जाएगा। नोएडा के अलावा पड़ोसी गाजियाबाद जिले में भी गंग नहर से होने वाली जलापूर्ति को बंद कर दिया गया है।

Read More: सोनिया गांधी की जूती का फीता बांधते नजर आए राहुल, तो क्यों वायरल होने लगी पीएम मोदी की ये तस्वीर..जानें

बता दें कि गंग नहर की सफाई के लिए प्रत्येक वर्ष अक्टूबर में करीब 20 दिन के लिए गंग नहर में पानी की आपूर्ति रोकी जाती है। नोएडा प्राधिकरण की ओर से शहरवासियों के लिए जलापूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि गंग नहर से आपूर्ति बाधित होने के बाद दो-तीन दिन तक स्टोर किए गए पानी से काम चलाया जाएगा। इसके बाद भूमिगत जलाशय के पानी की आपूर्ति की जाएगी।

 

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक