तूफान से तबाह मकानों के पुनर्निर्माण के बंगाल सरकार के अनुरोध पर निर्वाचन आयोग चुप क्यों है: टीएमसी |

तूफान से तबाह मकानों के पुनर्निर्माण के बंगाल सरकार के अनुरोध पर निर्वाचन आयोग चुप क्यों है: टीएमसी

तूफान से तबाह मकानों के पुनर्निर्माण के बंगाल सरकार के अनुरोध पर निर्वाचन आयोग चुप क्यों है: टीएमसी

:   Modified Date:  April 6, 2024 / 08:49 PM IST, Published Date : April 6, 2024/8:49 pm IST

कोलकाता, छह अप्रैल (भाषा) सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने शनिवार को कहा कि जलपाईगुड़ी में हालिया तूफान से तबाह हुए मकानों के पुनर्निर्माण की अनुमति देने के पश्चिम बंगाल सरकार के अनुरोध पर निर्वाचन आयोग चुप क्यों है।

टीएमसी नेता एवं मंत्री ब्रत्य बसु ने संवाददाताओं से कहा कि निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्से में तूफान से तबाह हुए लगभग 5,000 घरों के पुनर्निर्माण की अनुमति के लिए राज्य सरकार के आवेदन पर अभी तक जवाब नहीं दिया है।

उन्होंने कहा, ‘राज्य सरकार ने उत्तर बंगाल में 5,000 घरों के पुनर्निर्माण के लिए निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी है। लेकिन निर्वाचन आयोग इस संबंध में चुप क्यों है?’

बसु ने आरोप लगाया, ”हमें लगता है कि निर्वाचन आयोग को इस संबंध में अब तक भाजपा से मंजूरी नहीं मिली है।”

उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री जब कल जलपाईगुड़ी पहुंचेंगे तो कुछ घोषणा करेंगे। लेकिन मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे उनके द्वारा किए गए किसी भी वादे के झांसे में न आएं।’

प्रधानमंत्री मोदी रविवार को जलपाईगुड़ी में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करेंगे।

शुक्रवार को, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि जलपाईगुड़ी के प्रभावित लोगों को मुआवजा देने के उनके प्रयास सफल नहीं हुए क्योंकि ‘भाजपा इसके खिलाफ निर्वाचन आयोग चली गई।

रविवार को उत्तर बंगाल में आए तूफान में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

भाषा नेत्रपाल माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers