स्वतंत्रता के बाद नेताजी के प्रति न्यायपूर्ण ढंग से सम्मान व्यक्त नहीं किया गया : चौहान

स्वतंत्रता के बाद नेताजी के प्रति न्यायपूर्ण ढंग से सम्मान व्यक्त नहीं किया गया : चौहान

: , January 23, 2022 / 10:53 PM IST

भोपाल, 23 जनवरी (भाषा) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को आरोप लगाया कि स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस नीत सरकारों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रति न्यायपूर्ण ढंग से सम्मान व्यक्त नहीं किया।

चौहान ने यहां एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भारत माता की परतंत्रता की बेड़ियां तोड़ने के लिए बोस ने सब कुछ न्यौछावर कर दिया। वह अंग्रेजों की ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति को समझ चुके थे। यह दुर्भाग्य है कि स्वतंत्रता के पश्चात नेताजी के प्रति न्यायपूर्ण ढंग से सम्मान व्यक्त नहीं किया गया।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि मां भारती के जिन सपूतों, अमर शहीदों, क्रांतिकारियों ने सर्वस्व बलिदान कर दिया, उन्हें कांग्रेस सरकार ने भुला दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेनानियों का सम्मान किया।

उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बोस के सपनों का भारत बनाने का प्रयास कर रहे हैं। भोपाल को फ्लाईओवर, मेट्रो जैसी एक नहीं, अनेक सौगातें दी जा रही हैं। मध्य प्रदेश सरकार जनता के सहयोग से विकास के नए आयाम स्थापित कर रही है।’’

चौहान ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश में कई क्रांतिकारियों के स्मारक बनाने का कार्य किया जा रहा है। जबलपुर स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल में सुभाष वार्ड और विकसित किए गए संग्रहालय को आम जनता के लिए खोल दिया गया है।’’

चौहान ने भोपाल के सुभाष नगर फ्लाईओवर के लोकार्पण, नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति के अनावरण और आजाद हिन्द फौज कॉन्सेप्ट पार्क का भूमि-पूजन भी किया।

भाषा रावत आशीष

आशीष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)