पुणे कार दुर्घटना: फडणवीस ने कहा-किशोर न्याय बोर्ड ने जघन्य अपराध पर नरम रुख अपनाया |

पुणे कार दुर्घटना: फडणवीस ने कहा-किशोर न्याय बोर्ड ने जघन्य अपराध पर नरम रुख अपनाया

पुणे कार दुर्घटना: फडणवीस ने कहा-किशोर न्याय बोर्ड ने जघन्य अपराध पर नरम रुख अपनाया

:   Modified Date:  May 21, 2024 / 08:44 PM IST, Published Date : May 21, 2024/8:44 pm IST

पुणे, 21 मई (भाषा) महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री व गृह मंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने पुणे कार दुर्घटना को लेकर किशोर न्याय बोर्ड के नरम रुख अपनाने पर मंगलवार को आश्चर्य व्यक्त किया, जिसमें एक नाबालिग लड़के ने अपनी तेज रफ्तार लग्जरी कार से मोटरसाइकिल पर सवार दो आईटी पेशेवरों को कुचल दिया था।

कल्याणी नगर में रविवार तड़के 17 वर्षीय लड़के ने कथित तौर पर नशे की हालत में अपनी पोर्श कार से एक मोटरसाइकिल को टक्कर दी थी, जिसे लेकर आक्रोश के बीच फडणवीस मामले की समीक्षा के लिए अचानक पुणे पुलिस आयुक्तालय पहुंचे।

पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार और अन्य अधिकारियों से मुलाकात के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए, फडणवीस ने कहा कि पुलिस ने जमानत पा चुके किशोर के खिलाफ वयस्क के रूप में मुकदमा चलाने की अनुमति मांगने के लिए उच्च न्यायालय का रुख किया है।

दुर्घटना के बाद, आरोपी किशोर को किशोर न्याय बोर्ड के सामने पेश किया गया, जिसने कुछ घंटों बाद उसे जमानत मिल गई।

बोर्ड ने किशोर को क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय जाने, यातायात नियमों का अध्ययन करने और 15 दिनों में बोर्ड को एक प्रतिवेदन पेश करने का भी निर्देश दिया।

जेजे बोर्ड के आदेश में कहा गया है, ‘सीसीएल (चाइल्ड इन कॉन्फ्लिक्ट विद लॉ) सड़क दुर्घटनाओं और उनके समाधान विषय पर 300 शब्दों का एक निबंध लिखेगा।’

फडणवीस ने कहा, “जेजे बोर्ड का आदेश आश्चर्यजनक है क्योंकि उसने ऐसे जघन्य अपराध पर बहुत नरम रुख अपनाया है। पुणे पुलिस ने बोर्ड में याचिका दायर की थी कि उसे किशोर के साथ वयस्क की तरह व्यवहार करने की अनुमति दी जाए क्योंकि उसकी उम्र 17 साल और आठ महीने है। लेकिन बोर्ड ने आवेदन को अलग रखकर उसे जमानत पर रिहा कर दिया, जिससे सार्वजनिक आक्रोश फैल गया।”

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च न्यायालय ने पुलिस को फिर से जेजे बोर्ड से संपर्क करके यह अनुरोध करने के लिए कहा कि वह अपने आदेश की समीक्षा करे।

उन्होंने कहा, ‘पुलिस ने जेजे बोर्ड से संपर्क किया है और समीक्षा याचिका दायर की है। अगर आदेश की समीक्षा नहीं की गई, तो पुलिस ऊपरी अदालत का दरवाजा खटखटाएगी।’

पुलिस के मुताबिक, शनिवार और रविवार की दरमियानी रात को आरोपी किशोर अपने दोस्तों के साथ रात 9:30 बजे से 1 बजे के बीच दो होटलों में गया और कथित तौर पर शराब पी।

पुलिस आयुक्त कुमार ने पहले कहा था कि एक होटल के सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि किशोर शराब पी रहा था।

दुर्घटना में मारे गए दो आईटी पेशेवरों की पहचान मध्य प्रदेश के रहने वाले अनीस अवधिया (24) और अश्विनी कोस्टा (24) के रूप में की गई।

भाषा

जोहेब माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers