सतारा मामले में अदालत ने वकील सदावर्ते को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा |

सतारा मामले में अदालत ने वकील सदावर्ते को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

सतारा मामले में अदालत ने वकील सदावर्ते को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

:   Modified Date:  April 18, 2022 / 10:05 PM IST, Published Date : April 18, 2022/10:05 pm IST

सतारा (महाराष्ट्र), 18 अप्रैल (भाषा) महाराष्ट्र की एक अदालत ने सोमवार को वकील गुणारत्न सदावर्ते को 2020 में मराठा आरक्षण आंदोलन के दौरान आपत्तिजनक भाषा के कथित इस्तेमाल के मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सदावर्ते को सतारा शहर की पुलिस ने पिछले हफ्ते गिरफ्तार किया था। इससे पहले सदावर्ते को पिछले हफ्ते मुंबई पुलिस ने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार के आवास के बाहर राज्य परिवहन निगम के हड़ताली कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन से संबंधित एक अलग मामले में गिरफ्तार किया था। सतारा पुलिस ने मुंबई पुलिस से उसकी हिरासत लेने के बाद उसे गिरफ्तार किया था।

अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को पुलिस रिमांड खत्म होने पर सदावर्ते को पश्चिमी महाराष्ट्र के सतारा शहर की एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया ।

एक स्थानीय निवासी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि सदावर्ते ने 2020 में नौकरियों और शिक्षा में मराठा समुदाय के सदस्यों के लिए आरक्षण के लिए मराठा संगठनों के आंदोलन के दौरान एक टीवी चैनल पर कथित रूप से ‘‘आपत्तिजनक’’ शब्दों का इस्तेमाल किया था।

शिकायत के आधार पर सतारा पुलिस ने अधिवक्ता के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी।

सदावर्ते महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम के हड़ताली कर्मचारियों के एक वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं । उन्हें एक सप्ताह पहले पवार के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन के बाद मुंबई पुलिस ने एमएसआरटीसी के कई कर्मचारियों के साथ गिरफ्तार किया था।

भाषा रंजन दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers