महाराष्ट्र में सबसे बेकार लोगों पर सर्वेक्षण में शीर्ष पर रहेंगे उद्धव ठाकरे: बावनकुले |

महाराष्ट्र में सबसे बेकार लोगों पर सर्वेक्षण में शीर्ष पर रहेंगे उद्धव ठाकरे: बावनकुले

महाराष्ट्र में सबसे बेकार लोगों पर सर्वेक्षण में शीर्ष पर रहेंगे उद्धव ठाकरे: बावनकुले

:   Modified Date:  April 21, 2024 / 06:51 PM IST, Published Date : April 21, 2024/6:51 pm IST

मुंबई, 21 अप्रैल (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष चन्द्रशेखर बावनकुले ने रविवार को उद्धव ठाकरे पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर राज्य में सबसे ‘‘बेकार’’ लोगों के बारे में सर्वेक्षण कराया जाए तो शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख इस सूची में शीर्ष पर होंगे।

भाजपा नेता की यह टिप्पणी ठाकरे के उस दावे के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 2019 में उनसे कहा था कि वह दोनों दलों के बीच सत्ता बंटवारे के तहत उनके बेटे आदित्य ठाकरे को महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री के रूप में तैयार करेंगे।

शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख के दावे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, भाजपा, शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की मौजूदा महायुति सरकार में उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने शनिवार को कहा कि उद्धव ठाकरे ने अपना ‘मानसिक संतुलन खो दिया है।’’

मीडिया से बात करते हुए बावनकुले ने कहा, ‘‘अगर आप सर्वेक्षण में लोगों से महाराष्ट्र में सबसे बेकार लोगों के बारे में पूछेंगे, तो इस सूची में उद्धव ठाकरे शीर्ष पर होंगे। उनकी लोकप्रियता घट रही है। कोई भी उनकी रैलियां आयोजित करने को तैयार नहीं है और लोग उनकी सभाओं में नहीं जा रहे हैं।’’

बावनकुले ने कहा कि उद्धव ठाकरे को पता है कि आम चुनाव के बाद उन्हें घर बैठना पड़ेगा।

भाजपा नेता ने आदित्य पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘वह मुख्यमंत्री बनने के लिए किस तरह से योग्य हैं? वह मंत्री बनने के लायक भी नहीं हैं। क्या उन्होंने कभी किसी को राशन कार्ड या आधार कार्ड बनवाने में मदद की है? उद्धव ठाकरे के 18 उम्मीदवार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि और लोकप्रियता के कारण 2019 का लोकसभा चुनाव जीत पाए।’’

उन्होंने कहा कि राकांपा (सपा) प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद उद्धव ठाकरे ने अपना राजनीतिक समर्थन खो दिया। बावनकुले ने दावा किया कि आदित्य ‘‘संयोग से’’ एक निर्वाचन क्षेत्र से विधायक बन गए क्योंकि उस समय सकारात्मक लहर थी।

भाषा आशीष सुभाष

सुभाष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers