नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बढ़ाई गई मतदान केंद्रों की संख्या, अतिसंवेदनशील केंद्रों को शिफ्ट करने की मांग

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 13 Mar 2019 12:38 PM, Updated On 13 Mar 2019 12:38 PM

रायपुर। आगामी लोकसभा चुनावों को देखते हुए नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ा दी गई। लोकसभा चुनाव के लिए सुरक्षा को देखते हुए पुलिस ने अति संवेदनशील मतदान केन्द्रो को शिफ्ट करने की मांग चुनाव आयोग से की है। 

पढ़ें-अनिल जैन दो दिनी छत्तीसगढ़ दौरे पर, 11 लोकसभा क्षेत्रों में करेंगे बैठक, प्रत्याशियों की संभावित ...

2014 के लोकसभा चुनाव के समय नक्सल मतदान केन्द्रो की संख्या 388 थी जो अब बढ़कर 459 हो गई है। जानकारी के अनुसार मानपुर क्षेत्र में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ काम करने के लिए पांच बेस कैंप खोले है।

पढ़ें- हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, पति-पत्नी सेवारत जगहों पर करा सकेंगे तबादला...

खैरागढ़,छुरिया,डोंगरगढ़ में भी बेस कैंप खोले गए है,आईटीबीपी,सीआरपीएफ की तैनाती भी की गई है,लेकिन चुनाव को लेकर संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केन्द्रों की संख्या में बढ़ोतरी होने से समझा जा सकता है की नक्सल असर कम होने के बजाये बढ़ रहा है। इसलिए चुनावों के दौरान किसी अनहोनी से बचने के लिए सुरक्षा के कड़े इतंजाम किए जा रहे हैं।

 

Web Title : Number of polling stations increased in Naxal affected areas

जरूर देखिये