मेकाहारा में फिर एक बार अमानवीयता 9 घंटे से पड़ी लाश का पोस्टमार्टम नहीं

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 04 Jan 2018 07:06 PM, Updated On 04 Jan 2018 07:06 PM

जेल कैदी की ज़िंदगी से खिलवाड़ होना कोई नई बात नहीं है. प्रायः देखा जाता है कि मुजरिम को आम आदमी से लेकर पुलिस प्रशासन तक बेहद त्रिस्कर की नज़र से देखता है। किसी इंसान की ज़िंदगी के साथ एक ​बार फिर जेल और जिला प्रशासन की लापरवाही का मामला सामने  आया है. एक मृत कैदी जिसकी लाश पुरे 9 घंटे से हॉस्पिटल के सामने पड़ी थी और उसका पोस्टमार्टम भी नहीं किया गया.खबर मिली है कि अम्बिकापुर जेल में बंद कैदी लक्ष्मण यादव को स्वास्थ्य खराब होने के चलते उपचार के लिए रायपुर के मेकाहारा रिफर किया गया था. जहां इस कैदी की उपचार के दौरान मौत हो गई. कैदी की मौत के बाद उसके शव को पोस्ट मार्टम के लिए मरचुरी में रख दिया गया था. उसके बाद सुबह 8 बजे से लेकर शाम खबर लिखे जाने तो इस मृतक कैदी का पोस्ट मार्टम नहीं हो सका.

 ये भी पढ़े -शिक्षाकर्मी और डायरेक्टर पंचायत की बैठक में वेतन प्रमोशन और तबादला पर हुई बात

इसकी वजह बताई जा रही है जेल और जिला प्रशासन का पोस्ट मार्टम के समय मरचुरी में उपस्थित न होना. क्योंकि जब तक कैदी के मौत के मामले में जेल ओर जिला प्रशासन उपस्थित नहीं होता है तब तक पोस्ट मार्टम नहीं किया जाता है. ऐसे में मृतक कैदी के परिजनों को खासी पेरशानी उठानी पड़ रही है और ये भी बात सामने आ रही है कि  कुछ मिनटों में यह पोस्ट मार्टम नहीं हुआ तो परिजनों को कैदी का शव को ले जाने के लिए कल तक का इंतजार करना पड़ेगा. 

Web Title : Once again in mekahara, inhumanity is not a post-mortem of 9 hours.

जरूर देखिये