युद्ध की धमकी के बाद पाकिस्तान का युद्ध से तौबा, कहा 370 हटाने से पैदा हुए तनाव पर हमने टाल दी तबाही

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 05 Sep 2019 01:38 PM, Updated On 05 Sep 2019 01:38 PM

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद दुनिया भर में अपनी हंसी करवाने के बाद युद्ध की धमकी देने वाला पाकिस्तान अब युद्ध से तौबा करते नजर आ रहा है। पाकिस्तानी फौज के मेजर जनरल आसिफ गफूर बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में युद्ध से तौबा-तौबा करते नजर आए। पाक आर्मी के प्रवक्ता ने कहा कि दोनों देश परमाणु संपन्न हैं और ऐसे में युद्ध की कोई वजह नहीं है। गफूर ने आगे कहा कि कश्मीर को लेकर भारत सरकार के हालिया फैसले के बाद तनाव काफी बढ़ गया था पर हमने इसे आगे नही बढ़ने दिया।

read more : ईएमआई के बोझ से मिलेगी राहत, 1 अक्टूबर से सस्ता हो जाएगा लोन, RBI क...

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद ने दावा किया था कि भारत को मालूम होना चाहिए कि पाकिस्तान के पास आधा पाव या पाव भर के भी ऐटम बम हैं। पिछले एक महीने से पाकिस्तान की हर चाल पर उसका दुनियाभर में मजाक ही उड़ा है। ताजा मामला पाक के पूर्व राजनयिक अब्दुल बासित का है। उन्होंने एक पॉर्न स्टार को पैलेट पन का शिकार कश्मीरी बता दिया था, जिस पर सोशल मीडिया पर उनका खूब मजाक उड़ा।

read more : 7th Pay Commission : दीवाली से पहले मिल सकती है खुशखबरी, सार्वजनिक ...

प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने पद संभालने के बाद अपनी पहली स्पीच में ही भारत से वार्ता की पेशकश की थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की भौगोलिक स्थिति को क्षेत्रीय देश या विश्व शक्तियां नजरअंदाज नहीं कर सकतीं। दरअसल, कश्मीर को लेकर पाक द्वारा फैलाए जा रहे प्रॉपेगैंडा को किसी भी बड़े देश ने तवज्जो नहीं दी। आर्मी के प्रवक्ता ने कहा, 'भारत एक बड़ी आबादी वाला देश है और वैश्विक समुदाय का भारत में हित है।'

read more : चिदंबरम की बढ़ी चिंता, अग्रिम जमानत याचिका खारिज, अब ईडी हिरासत में लेकर करेग...

मेजर जनरल गफूर ने भारत के सामने चीन, अफगानिस्तान और ईरान की चर्चा की। उन्होंने कहा कि चीन दुनिया की एक उभरती हुई ताकत है। चीन के साथ भारत के मसले हैं लेकिन दोनों देशों के आर्थिक संबंध स्थिर हैं। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान ने केवल युद्ध, शहादत और तबाही ही देखी है। ईरान से अपने संबंधों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से उसके संबंध तो अच्छे हैं पर पश्चिम एशिया के हालात के चलते ईरान को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है लेकिन क्षेत्रीय शांति के लिए इन देशों की अहम भूमिका है।

read more : 25 हजार के सेकेंड हैंड ऑटो का 47 हजार रुपए काटा गया चालान.. देखिए

जंग की बात पर उन्होंने कहा, 'भारत को लगता है कि उसका ऐक्शन हमें कमजोर कर देगा। मैं कहना चाहता हूं कि जंग केवल हथियारों और अर्थव्यवस्था से नहीं बल्कि देशभक्ति से भी लड़ी जाती है।' कश्मीर के मसले ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान खींचा है। इस दौरान आर्मी के प्रवक्ता ने एक सवाल के जवाब में कहा कि परमाणु हथियार डेटरेंस होते हैं और हमारी 'पहले इस्तेमाल न करने की' कोई नीति नहीं है।

Web Title : Pakistan's fear of war after war threat,

जरूर देखिये