पीएम मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों का बढ़ाया हौसला, विज्ञान में कभी विफलता नहीं होती, केवल प्रयोग और प्रयास होते हैं

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 07 Sep 2019 10:10 AM, Updated On 07 Sep 2019 09:47 AM

नई दिल्ली। चंद्रयान-2 की लैंडिंग को लेकर भले ही हमारे मुताबिक परिणाम ना मिले हो लेकिन वैज्ञानिकों की मेहनत को पीएम मोदी ने सराहा। इसरो मुख्यालय में प्रधानमंत्री मोदी ने वहां मौजूद वैज्ञानिकों और इंजीनियरों से जाकर मुलाकात की। अपने संबोधन के बाद प्रधानमंत्री ने एक-एक कर सभी से हाथ मिलाकर अभिवादन किया और उनका हौसला बढ़ाया।

पढ़ें- चांद से 2.1 किमी पहले टूटा लैंडर विक्रम का संपर्क, देशभर में मायूसी

प्रधानमंत्री के वहां से निकलते वक्त इसरो प्रमुख के सिवन भावुक हो गए, जिसके बाद पीएम मोदी ने उन्हे गले लगा लिया। इस दौरान पीएम मोदी भी भावुक नजर आए। चंद्रयान-2 मिशन के अपेक्षित परिणाम नहीं मिलने के बाद से तनाव सिवन के चेहरे पर नजर आ रहा था और इसीलिए वे भावुक हो गए। हालांकि पीएम मोदी ने उन्हे गले लगा लिया और पीठ थपथपाकर उनका हौसला बढ़ाया।

पढ़ें- 15 हजार की बाइक का 11 हजार चालान, शराबी युवक ने बीच सड़क पर ही अपनी..

पीएम मोदी ने ISRO सेंटर पहुंकर वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया पीएम ने कहा कि वैज्ञानिक मां भारती की जय के लिए जीते और जूझते हैं। पीएम ने कहा कि वैज्ञानिक मक्खन पर नहीं पत्थर पर लकीर करने वाले हैं। हर कठिनाई नया सिखाती है।

पढ़ें- शुरू हुआ चंद्रयान- 2 की लैंडिंग का काउंटडाउन, पूरी दुनिया को है इंत...

प्रधानमंत्री ने ज्ञान का सबसे बड़ा शिक्षक विज्ञान को बताते हुए कहा कि विज्ञान में कभी विफलता नहीं होती। विज्ञान में सिर्फ प्रयोग और प्रयास होते हैं। पीएम ने चंद्रयान की यात्रा को शानदार और जानदार बताया।

आगे भी जारी रहेगी यात्रा

Web Title : PM Modi encouraged the scientists of ISRO

जरूर देखिये