स्मार्ट बनेगा ये शहर, बॅटेगें 25 हजार स्मार्ट कार्ड..मिलेगीं ये सुविधाएं और ऐसे कंट्रोल होगा शहर का ट्रैफिक

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 07 Jul 2019 02:35 PM, Updated On 07 Jul 2019 02:23 PM

बिलासपुर। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर के लोगों को स्मार्ट बनाने का कार्य शुरू होने जा रहा है। इसके लिए 25 हजार लोगों को स्मार्ट कार्ड दिया जाएगा। इस सुविधा के जरिए नगर निगम के जल, संपत्ति सहित विभिन्न करों का भुगतान आसान होगा। वहीं सिटी बस के सफर का किराया, सिनेमा टिकट, मॉल में खरीदी, रेस्टोरेंट आदि के बिल भी इसी के जरिए चुकाए जा सकेंगे। कार्ड में नागरिकों को कंपनियों से छूट भी मिलेगी।

ये भी पढ़ें-8 जुलाई से शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र, सीएम का बयान- विपक्ष के प्रश्नों का जवाब देने हम तैयार

इसके साथ ही शहर के ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए हाईस्पीड सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। टै्रफिक सिस्टम को इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम(आईटीएमएस) के जरिए कंट्रोल करने की तैयारी हैं। इसके लिए 214 करोड़ के हाई स्पीड नेटवर्क कैमरे लगाने का निर्णय लिया गया है।

ये भी पढ़ें-उच्च शिक्षा मंत्री पटवारी का बजट पर बयान, मोदी सरकार ने जनता को मारा तमाचा

ट्रैफिक कमांड कंट्रोल सिस्टम के लिए व्यापार विहार में 26.50 करोड़ की बिल्डिंग बनाने के लिए टेंडर कराने का निर्णय लिया गया। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एमडी प्रभाकर पांडेय ने बताया कि दोनों प्रस्तावों को तकनीकी स्वीकृति के लिए राज्य शासन की प्रोजेक्ट फंडिंग कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। इसमें हफ्ते, पंद्रह दिन लग सकते हैं।

ये भी पढ़ें-विधानसभा का मानसून सत्र 12 जुलाई से, सरकार को घेरने विपक्ष बना रहा रणनीति

उन्होने बताया कि स्मार्ट कार्ड जारी करने का काम पीपीपी मॉडल में प्राइवेट एजेंसी के माध्यम से कराया जाएगा। ट्रैफिक कंट्रोल के लिए कैमरे लगाने का काम 8 महीने में पूरा हो जाएगा। सर्वसुविधायुक्त ट्रैफिक कंट्रोल कमांड सेंटर की नई बिल्डिंग के निर्माण में 15 महीने लगेंगे। अभी वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

Web Title : The city will be smart, 25 thousand smart cards will be split. These facilities will be available

जरूर देखिये