दिल्ली एम्स में लगा वीआईपी का तांता, अरूण जेटली की हालत बेहद नाजुक

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 18 Aug 2019 10:54 PM, Updated On 18 Aug 2019 10:54 PM

दिल्ली । पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली की हालत बेहद ही नाजुक है। बीते दो दिनों से उनकी तबियत ज्यादा नाजुक हो गई है जिन्हे वेटिलेटर से हटाकर लाइफ सपोर्ट सिस्टम में रखा गया है। अरूण जेटली को 9 अगस्त से दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था। उन्हे सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी के बाद रूटीन चेकिंग के लिए लाया गया था जिसके बाद उन्हे भर्ती कर लिया गया है। कॉर्डियो-न्यूरो सेंटर के आईसीयू में रखा गया है।

read more : राजनाथ सिंह की दो टूक, पाकिस्तान से अब सिर्फ POK पर बात होगी

बता दें कि अरूण जेटली काफी समय से कैंसर से पीड़ित हैं। पिछले 9 अगस्त से ही नेताओं का मिलने जाने का सिलसिला जारी है। प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वैं​कैया नायडू, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, गृहमंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, पीयूष गोयल, डॉ हर्षवर्धन, जितेंद्र सिंह, मुख्यमंत्री नितीश कुमार, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित कई बड़े नेता व विपक्ष के नेताओं ने दिल्ली में जाकर उनके स्वास्थ्य का जायजा लिया।

read more : 'शॉटगन' के बदले 'सुर', मोदी की तारीफ के बाद मिलने की इच्छा जताई, भा...

पेशे से वकील जेटली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में उनकी कैबिनेट का महत्वपूर्ण हिस्सा थे। उनके पास वित्त और रक्षा का प्रभार था और सरकार के लिए वह संकटमोचक की भूमिका में रहे। खराब स्वास्थ्य के कारण जेटली ने 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा। पिछले साल 14 मई को एम्स में उनके गुर्दे का प्रतिरोपण हुआ था। उस समय रेल मंत्री पीयूष गोयल को उनके वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गयी थी।

read more : 7th-pay-commission, बैंक कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, बढ़ाया गया महं...

पिछले साल अप्रैल की शुरुआत से ही वह कार्यालय नहीं आ रहे थे और वापस 23 अगस्त 2018 को वित्त मंत्रालय आए। लंबे समय तक मधुमेह रहने से वजन बढ़ने के कारण सितंबर 2014 में उन्होंने बैरिएट्रिक सर्जरी करायी थी। हर्षवर्द्धन ने शुक्रवार को कहा था, ‘‘एम्स में डॉक्टर अपना हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं।''

read more : बीजेपी शासित इस राज्य में 10,000 अध्यापकों की नौकरी पर मंडराया खतरा

एम्स ने 9 अगस्त के बाद से जेटली के स्वास्थ्य को लेकर कोई बुलेटिन जारी नहीं किया है। हालांकि, अस्पताल ने शुक्रवार को बताया था कि डॉक्टरों की टीम जेटली की सेहत पर नजर बनाए हुए थे। जेटली का सॉफ्ट टिश्यू कैंसर का इलाज चल रहा था। वे इस बीमारी के इलाज के लिए 13 जनवरी को न्यूयॉर्क चले गए थे और फरवरी में वापस लौटे थे। जेटली ने अमेरिका से इलाज कराकर लौटने के बाद ट्वीट किया था- घर आकर खुश हूं। मई 2019 में उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से कह दिया था कि नई सरकार में वे शामिल नहीं हो पाएंगे। इसके बाद मोदी उनसे मिलने घर पहुंचे थे।

Web Title : VIP influx in Delhi AIIMS, Arun Jaitley's condition very critical

जरूर देखिये