राहुल की कप्तानी की आलोचना लेकिन अंतिम दो मैच में टीम की अगुआई करने की संभावना |

राहुल की कप्तानी की आलोचना लेकिन अंतिम दो मैच में टीम की अगुआई करने की संभावना

राहुल की कप्तानी की आलोचना लेकिन अंतिम दो मैच में टीम की अगुआई करने की संभावना

:   Modified Date:  May 9, 2024 / 07:34 PM IST, Published Date : May 9, 2024/7:34 pm IST

(कुशान सरकार)

नयी दिल्ली, नौ मई (भाषा) सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ बुधवार को करारी हार के बाद आईपीएल प्ले ऑफ की दौड़ से लगभग बाहर होने से लखनऊ सुपरजाइंट्स के कप्तान के रूप में लोकेश राहुल के भविष्य को लेकर बहस तेज हो गई है।

अटकलें लगाई जा रहीं थी कि कप्तान स्वयं अपना पद छोड़कर बाकी बचे दो मैचों में अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान दे सकते हैं। हालांकि सिर्फ दो मैच बचे होने के कारण राहुल के टीम की अगुआई करते रहने की उम्मीद है।

आईपीएल के एक सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर पीटीआई को बताया, ‘‘दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अगले मैच से पहले पांच दिन का ब्रेक है। फिलहाल कोई फैसला नहीं किया गया है लेकिन समझा जा रहा है कि अगर राहुल बाकी बचे दो मैच में सिर्फ अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करने की योजना बनाते हैं तो प्रबंधन को कोई दिक्कत नहीं होगी।’’

सनराइजर्स के सलामी बल्लेबाजों ट्रेविस हेड (30 गेंद में नाबाद 89 रन) और अभिषेक शर्मा (28 गेंद में नाबाद 75 रन) द्वारा 167 रन के लक्ष्य को 10 ओवर से भी कम समय में हासिल करने के बाद लखनऊ फ्रेंचाइजी के मालिक संजीव गोयनका का राहुल के साथ नाराजगी में बात करने का वीडियो सोशल मीडिया पर आया था।

इससे पहले हैदराबाद के इसी विकेट पर मेहमान टीम के बल्लेबाजों को रन बनाने के लिए जूझना पड़ा था।

इसके अलावा पावरप्ले में राहुल (33 गेंद में 29 रन) की धीमी बल्लेबाजी भी इस लुभावनी लीग में लखनऊ के उम्मीद से खराब प्रदर्शन का एक बड़ा कारण है और लगता है कि अंतत: गोयनका के धैर्य ने जवाब दे दिया है।

भारत के इस स्टार बल्लेबाज ने 12 मैच में 460 रन बनाए हैं और एक बार फिर सत्र में 500 रन के आंकड़े को पार करने के करीब हैं लेकिन समस्या उनका स्ट्राइक रेट है जो 136.09 है।

आईपीएल के मौजूदा सत्र में सर्वाधिक रन बनाने वाले आठ बल्लेबाजों में शीर्ष तीन में बल्लेबाजी करते हुए राहुल का स्ट्राइक रेट सबसे खराब है। अन्य सात बल्लेबाजों में सभी का स्ट्राइक रेट 140 से अधिक है और हेड जैसे बल्लेबाज ने 200 से अधिक के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। विराट कोहली की उनके स्ट्राइक रेट के लिए आलोचना हुई थी लेकिन उनका स्ट्राइक रेट भी 148 से अधिक का है।

लखनऊ की टीम की दावेदारी हालांकि अब भी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है क्योंकि टीम 14 मई को नयी दिल्ली में दिल्ली कैपिटल्स और 17 मई को वानखेड़े में मुंबई इंडियन्स के खिलाफ अपने बाकी बचे दोनों मैच जीतकर 16 अंक तक पहुंच सकती है। हालांकि माइनस .760 के नेट रन रेट में काफी सुधार कर पाना बेहद मुश्किल होगा।

राहुल अगर कप्तानी छोड़ते हैं तो मौजूदा सत्र में टीम के सबसे प्रभावी बल्लेबाज और उप कप्तान निकोलस पूरन बाकी बचे दो मैच में यह जिम्मेदारी निभा सकते हैं।

भाषा सुधीर पंत

पंत

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers