उत्तर प्रदेश की 14 लोकसभा सीट पर 11 बजे तक 27 प्रतिशत से अधिक मतदान |

उत्तर प्रदेश की 14 लोकसभा सीट पर 11 बजे तक 27 प्रतिशत से अधिक मतदान

उत्तर प्रदेश की 14 लोकसभा सीट पर 11 बजे तक 27 प्रतिशत से अधिक मतदान

:   Modified Date:  May 25, 2024 / 12:02 PM IST, Published Date : May 25, 2024/12:02 pm IST

लखनऊ, 25 मई (भाषा) लोकसभा चुनाव के छठे चरण में उत्तर प्रदेश की 14 सीट पर शनिवार सुबह 11 बजे तक 27.06 प्रतिशत मतदान हुआ।

प्रदेश की 14 लोकसभा सीट और एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे तक जारी रहेगा।

छठे चरण में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, तृणमूल कांग्रेस के ललितेश पति त्रिपाठी और भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ समेत 162 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होगा।

निर्वाचन आयोग के अनुसार सुबह 11 बजे तक इलाहाबाद में 23.88 प्रतिशत, अंबेडकरनगर में 30.02 प्रतिशत, आजमगढ़ में 28.60 प्रतिशत, बस्ती में 29.80 प्रतिशत, भदोही में 25.51 प्रतिशत, डुमरियागंज में 27.74 प्रतिशत, जौनपुर में 26.81 प्रतिशत, लालगंज में 28.40 प्रतिशत, मछलीशहर में 27.18 प्रतिशत, फूलपुर में 22.85 प्रतिशत, प्रतापगढ़ में 26.35 प्रतिशत, संतकबीरनगर में 27.35 प्रतिशत, श्रावस्ती में 26.69 प्रतिशत और सुलतानपुर में 28.05 प्रतिशत मतदान हुआ।

बलरामपुर जिले की गैसड़ी विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए सुबह 11 बजे तक 26.04 प्रतिशत वोट पड़े।

फर्रुखाबाद संसदीय क्षेत्र में आने वाले एटा जिले के थाना नयागांव के ग्राम खिरिया पमारान के मतदान केंद्र पर भी पुनर्मतदान निर्धारित समय से शुरू हुआ। यहां गत 13 मई को मतदान के दौरान 17 वर्षीय किशोर ने कथित रूप से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी के पक्ष में सात बार फर्जी मतदान किया, जिसका वीडियो सार्वजनिक होने के बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए आयोग ने मतदान निरस्त कर दिया था।

शनिवार को इस मतदान केंद्र पर भी पुनर्मतदान सुबह सात बजे से शुरू हुआ और सुबह ही मतदाताओं की कतार लग गयी। प्रदेश के मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने बताया कि प्रदेश में छठे चरण की 14 लोकसभा सीट तथा गैसड़ी विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे तक चलेगा।

रिणवा के अनुसार 14 लोकसभा सीट पर 146 पुरुष और 16 महिलाओं सहित कुल 162 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जबकि गैसड़ी विधानसभा सीट पर सात उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।

आयोग के अनुसार छठे चरण में 162 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला दो करोड़ 70 लाख से अधिक मतदाता करेंगे। इनमें एक करोड़ 43 लाख से अधिक पुरुष और एक करोड़ 27 लाख से अधिक महिला मतदाता हैं, जबकि 1,256 ‘थर्ड जेंडर’ मतदाता हैं।

रिणवा ने बताया कि छठे चरण के चुनाव में कुल 28,171 मतदेय स्थल (पोलिंग बूथ) हैं और 17,113 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। छठवें चरण के 14 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में लालगंज और मछलीशहर दो सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं, जबकि शेष 12 सीट सामान्‍य श्रेणी की हैं।

सिद्धार्थनगर से मिली खबर के अनुसार डुमरियागंज लोकसभा क्षेत्र में बूथ संख्या 159 ग्राम सभा पोखराकाजी में सुबह साढ़े आठ बजे तक एक भी मतदान नहीं हुआ। सड़क नहीं बनने से नाराज गांव वाले चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं।

पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार के अनुसार, छठे चरण के मतदान को सकुशल संपन्न कराने के लिए 8,840 निरीक्षक और उप निरीक्षक, 68,191 मुख्य आरक्षी और आरक्षी, होमगार्ड के 48,091 जवान, 49 कंपनी पीएसी बल, 229 कंपनी सीएपीएफ (केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) की व्यवस्था की गयी है। सुलतानपुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार मेनका गांधी का समाजवादी पार्टी (सपा) के रामभुआल निषाद और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के उदयराज वर्मा से मुकाबला है।

इलाहाबाद सीट पर पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी के बेटे एवं भाजपा उम्मीदवार नीरज त्रिपाठी का मुकाबला ‘इंडिया’ (इंडियन नेशनल डेवलेपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस) गठबंधन के घटक दल कांग्रेस के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री उज्ज्वल रमण सिंह से है। आजमगढ़ सीट पर निवर्तमान भाजपा सांसद दिनेश लाल यादव निरहुआ का मुकाबला समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव से है। धर्मेंद्र यादव 2022 में इस सीट पर हुए उपचुनाव में निरहुआ से हार गए थे। भदोही में भाजपा ने अपने निवर्तमान सांसद रमेश बिंद की जगह विधायक विनोद कुमार बिंद को मैदान में उतारा है जिनके मुकाबले ‘इंडिया’ गठबंधन ने तृणमूल कांग्रेस के ललितेश पति त्रिपाठी को प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री पंडित कमलापति त्रिपाठी की चौथी पीढ़ी के ललितेश मिर्जापुर जिले में कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं।

गैसड़ी विधानसभा सीट से 2022 में निर्वाचित डॉ. एसपी यादव का इस वर्ष की शुरुआत में निधन हो गया था जिसके कारण यहां उपचुनाव की आवश्यकता पड़ी।

भाषा आनन्द शोभना

शोभना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers