उत्तरी नाइजीरिया में अपहृत करीब 70 विद्यार्थियों को मुक्त कराया गया : अधिकारी

उत्तरी नाइजीरिया में अपहृत करीब 70 विद्यार्थियों को मुक्त कराया गया : अधिकारी

Edited By: , September 13, 2021 / 07:49 PM IST

लागोस, 13 सितंबर (एपी) उत्तरी नाइजीरिया में स्कूल से अपहृत करीब 70 विद्यार्थियों को दो सप्ताह तक बंधक रहने के बाद मुक्त करा लिया गया है। यह जानकारी जामफारा राज्य के गवर्नर बेल्ले मातावल्ले ने सोमवार को दी।

उन्होंने बताया कि गवर्नमेंट डे सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों को पछतावा महसूस करने वाले कुछ बंदूकधारियों की मदद से बचाया गया। मुक्त किए गए सभी विद्यार्थी रविवार को अपने परिवारों के पास पहुंच गए हैं।

गौरतलब है कि एक सितंबर को हथियारबंद लोगों ने स्कूल पर धावा बोल विद्यार्थियों का अपहरण कर लिया था। उत्तरी नाइजीरिया में स्कूलों पर हमले और विद्यार्थियों के अपहरण की नवीनतम घटना के बाद सरकार को जाफमारा राज्य के सभी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों को बंद करने पर मजबूर होना पड़ा है।

पुलिस ने बताया कि स्कूल से 73 विद्यार्थियों का अपहरण किया गया था, जिनमें से पांच को अगले दिन ही मुक्त कर लिया गया था।

उन्होंने बताया कि अधिकारी इन विद्यार्थियों को मुक्त कराने में सफल रहे क्योंकि अपहरण करने वाले कुछ बंदूकधारियों को अपने कृत्य पर पछतावा हुआ और उन्होंने मदद की।

मातावल्ले कहा, ‘‘ अपने कृत्य पर पछतावा महसूस कर रहे कुछ डकैतों की मदद से हम पता कर पाए कि उन्होंने इन बच्चों को कहा रखा है। हम उनके साथ गत 10 दिन से करीब से काम कर रहे थे और कल देर रात दो बजे पुलिस आयुक्त अन्य अधिकारियों के साथ उस स्थान पर पहुंचे और इन बच्चों को मुक्त कराया।’’

यूनिसेफ के मुताबिक, नाइजीरिया में गत एक साल में विद्यार्थियों के अपहरण की कम से कम 10 घटनाएं हुई हैं, जिनमें 1,436 विद्यार्थियों का अपहरण किया गया। इनमें से करीब 200 विद्यार्थी अब भी बंधक हैं और 16 विद्यार्थियों की इन हमलों में मौत हुई है। स्कूलों से विद्यार्थियों के अपहरण की घटनाएं नाइजीरिया के नौ अलग-अलग प्रांतों में हुई है और नर्सरी से लेकर विश्वविद्यालय तक में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को निशाना बनाया गया है।

अधिकारियों का दावा है कि डकैतों द्वारा विद्यार्थियों का अपहरण फिरौती के उद्देश्य से किया जाता है, लेकिन बंधक बनाए गए विद्यार्थियों ने बताया कि उन्हें मुक्त किए जाने के बाद स्कूल नहीं जाने की धमकी दी गई। इससे आशंका है कि अपहरणकर्ताओं का संबंध इस्लामिक चरमंपथी समूह बोको हराम से हो सकता है, जो पश्चिमी शिक्षा का विरोध करता है।

एपी धीरज दिलीप

दिलीप