पाकिस्तान के पंजाब की पुलिस ने भारतीय पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोप में व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया |

पाकिस्तान के पंजाब की पुलिस ने भारतीय पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोप में व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया

पाकिस्तान के पंजाब की पुलिस ने भारतीय पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोप में व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया

:   Modified Date:  April 17, 2024 / 11:22 PM IST, Published Date : April 17, 2024/11:22 pm IST

(एम जुल्करनैन)

लाहौर, 17 अप्रैल (भाषा) पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की राजधानी लाहौर में अपनी भारतीय पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोप में एक शख्स के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

फैक्टरी एरिया थाने के पुलिस अधिकारी मोहम्मद अब्बास ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, “हमने मिर्जा यूसुफ इलाही के खिलाफ उसकी भारतीय पत्नी फरजाना बेगम की शिकायत पर उन्हें प्रताड़ित करने, उनका पासपोर्ट जब्त करने, धमकी देने और अवैध रूप से बंधक बनाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है।”

उन्होंने कहा कि संदिग्ध की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

फरजाना बेगम ने ‘पीटीआई-भाषा’ से फोन पर बात करते हुए पाकिस्तान में अपनी आपबीती सुनाई। वह मुंबई में चीता कैंप की रहने वाली हैं।

वह 2015 में, संयुक्त अरब अमीरात में अपने दोस्तों के साथ एक समारोह के दौरान मिर्ज़ा यूसुफ इलाही से मिलीं। उसी साल दोनों ने शादी करने का फैसला किया। फरजाना और इलाही दोनों तलाकशुदा थे।

फरज़ाना की पहली शादी से एक बेटा और एक बेटी थी जबकि इलाही की पहली दो पत्नियों से छह बच्चे थे और यह उसकी चौथी शादी थी।

अपनी शादी के पहले तीन साल तक वे संयुक्त अरब अमीरात में रहे और उनके दो बच्चे हुए। 2018 के अंत में दंपति लाहौर आ गए।

फरजाना ने कहा कि इसके बाद, इलाही ने उन्हें प्रताड़ित करना शुरू कर दिया और उनसे अपने देश भारत वापस जाने के लिए कहा।

उन्होंने कहा, “इलाही ने स्थानीय पुलिस को यहां तक कहा कि मैं यहां अवैध रूप से रह रही हूं। उसके बाद, कुछ पुलिसकर्मी मुझे निर्वासित करने के लिए जबरन वाघा सीमा ले गए। मैंने वाघा सीमा पर अधिकारियों को बताया कि मेरे दो बच्चे यहां हैं और मेरे पति मुझसे छुटकारा पाना चाहते हैं। वहां कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के हस्तक्षेप पर, मुझे घर जाने की अनुमति दी गई।”

फरजाना ने आरोप लगाया, ‘पिछले हफ्ते, इलाही ने मुझे बेरहमी से प्रताड़ित किया, मेरा पासपोर्ट जब्त कर लिया और मुझे भारत वापस जाने के लिए कहा।’

उन्होंने कहा कि वह अपने बच्चों के बिना भारत वापस नहीं जाएंगी। उन्होंने कहा, ‘मैं पाकिस्तान सरकार और भारतीय दूतावास से इस पर ध्यान देने और इलाही को गिरफ्तार कर मेरा पासपोर्ट बरामद करने का अनुरोध करती हूं।’

भाषा

नोमान प्रशांत

प्रशांत

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers